अन्ना के स्वागत के लिए नहीं मिली अनुमति

अन्ना हज़ारे इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अन्ना हज़ारे भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ मुहिम की शुरूआत बनारस से करने वाले हैं

उत्तर प्रदेश में लखनऊ यूनिवर्सिटी के कुलपति ने शिक्षक संघ को अन्ना हज़ारे के स्वागत के लिए दी गई अनुमति वापस ले ली है.

माना जा रहा है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने राज्य सरकार के दबाव में यह क़दम उठाया है.

शिक्षक संघ के अध्यक्ष डाक्टर दिनेश कुमार ने बीबीसी को बताया कि कुलपति प्रोफ़ेसर मनोज कुमार मिश्र ने मंगलवार को उन्हें पत्र लिखकर सूचित किया कि वे विश्वविद्यालय परिसर में ऐसे विवादास्पद कार्यक्रम की अनुमति नहीं दे सकते.

दिनेश कुमार के मुताबिक़ इससे पहले उन्हें विश्वविद्दालय के मालवीय सभागार में सभा की अनुमति दी गई थी और उन्होंने उसके लिए आवश्यक धन राशि भी जमा करा दी थी.

लखनऊ विश्वविद्यालय परिसर गोमती नदी के किनारे झूले लाल मैदान के पास है , जहां अन्ना हज़ारे की जन सभा होनी है.

विश्वविद्यालय शिक्षक संघ ने इस आम सभा से पहले अन्ना हज़ारे के सम्मान में स्वागत कार्यक्रम रखा था. इसके बाद विश्वविद्यालय के शिक्षक और छात्र अन्ना हज़ारे की आम सभा में शामिल होने वाले थे.

बीबीसी ने कुलपति प्रोफ़ेसर मनोज कुमार मिश्र से बात करने का प्रयास किया लेकिन उन्होंने फ़ोन नही उठाया .

लकिन उनके कार्यालय ने इस बात की पुष्टि की है कि विश्वविद्दालय प्रशासन ने अनुमति वापस ले ली है.

संबंधित समाचार