हैदराबाद में विधायक पर हमला

अकबरुद्दीन ओवैसी इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अकबरुद्दीन ओवैसी पर हुए हमले को आपसी रंजिश का मामला माना जा रहा है

हैदराबाद के एक प्रभावशाली मुस्लिम नेता और मजलिस-इ-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) के विधायक दल के नेता अकबरुद्दीन ओवैसी क़ातिलाना हमले में गंभीर रुप से घायल हो गए हैं.

शनिवार की सुबह उन पर कुछ बंदूकधारियों ने निकट से गोली चलाई और तेज़धार हथियारों से हमला कर दिया.

अकबरुद्दीन को तीन गोलिया लगीं हैं. उन्हें क़रीब ही स्थित उनके अपने ओवैसी अस्पताल में भरती करवाया गया है जहाँ काफ़ी देर तक चले ऑपरेशन के बाद डॉक्टरों ने उनके शरीर से गोलियाँ निकाल दी हैं. पुलिस आयुक्त अब्दुल क़य्युम ख़ान ने अस्पताल में अकबरुद्दीन ओवैसी को देखने के बाद कहा है कि 35 वर्षीय विधायक की हालत बेहतर है.

इस हमले में एमआईएम के एक और विधायक हमद बल्ला, कॉर्पोरेटर मंसूर और एक अन्य व्यक्ति घायल हो गए.

हमला सुबह सवा ग्यारह बजे बरक्स के इलाक़े में किया गया जहाँ अकबरुद्दीन अपने चुनाव क्षेत्र में कुछ कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए गए थे. अकबरुद्दीन ओवैसी के सुरक्षा गार्ड की जवाबी फ़ायरिंग में एक हमलावर की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए.

शहर में तनाव

पुलिस को संदेह है कि इस हमले के पीछे अकबरुद्दीन ओवैसी के एक राजनैतिक विरोधी और मजलिस बचाओ तहरीक (एमबीटी) के स्थानीय नेता मोहम्मद पहलवान का हाथ है.

बताया जाता है कि सरकारी भूमि पर अवैध कब्ज़ों को लेकर पहलवान ओवैसी और एमआईएम से नाराज़ थे क्योंकि ओवैसी ने उन्हें कई कब्ज़ों से बेदख़ल करवा दिया था.

पुलिस पहलवान और उनके समर्थकों की तलाश कर रही है.

पुलिस आयुक्त ने कहा है कि हमले के ज़िम्मेदार लोगों को नहीं बख़्शा जाएगा.

मोहम्मद पहलवान पहले एमआईएम में ही थे लेकिन बाद में वो विरोधी दल एमबीटी में चले गए.

अकबरुद्दीन पर हमले की ख़बर शहर में तेज़ी से फैली, उनके हजारों समर्थक ओवैसी अस्पताल के बहार जमा हो गए और उन्होंने ओवैसी के समर्थन में नारे लगाने शुरू कर दिए.

बढ़ते हुए तनाव को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है और शहर के दूसरे संवेदनशील स्थानों पर अलर्ट घोषित कर दिया है.

मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी, गृहमंत्री इन्द्र रेड्डी और विधानसभा के उपसभापति एन मनोहर ओवैसी का हाल जानने अस्पताल पहुँचे.

अकबर के बड़े भाई लोकसभा सदस्य असदुद्दीन ओवैसी ख़बर सुनने के बाद दिल्ली से हैदराबाद पहुँच गए हैं.

उन्होंने एमआईएम के समर्थकों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

संबंधित समाचार