विधायक ओवैसी की हालत गंभीर

अकबरुद्दीन ओवैसी इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अकबरुद्दीन ओवैसी एक प्रभावशाली राजनीतिक परिवार के सदस्य हैं

हैदराबाद में मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के विधायक दल के नेता अकबरुद्दीन ओवैसी की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है.

रविवार को डॉक्टरों के एक दल ने दूसरी बार उनका ऑपरेशन किया है.

38 वर्षीय अकबरुद्दीन ओवैसी पर शनिवार को विरोधी गुट के लोगों ने उस समय गोली चला दी थी जब वे अपने विधानसभा क्षेत्र में पदयात्रा से वापस लौट रहे थे.

उन्हें चार गोलियाँ लगीं और चाकू के भी कई घाव लगे.

उनके अपने ओवैसी अस्पताल में उनके शरीर से तीन गोलियाँ निकाली गई थीं. बाद में उन्हें केर अस्पताल ले जाया गया जहां विशेषज्ञों का एक दल उनकी चिकित्सा कर रहा है.

केर अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि उनकी हालत अभी गंभीर बनी हुई है क्योंकि गुर्दे और यूरिनरी ब्लैडर को नुक़सान पहुँचा है.

डॉक्टरों का कहना है कि उनका गुर्दा काम नहीं कर रहा है और सांस लेने में भी तकलीफ़ हो रही है. उनका ब्लड प्रेशर सामान्य बनाए रखने के लिए उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है.

हमले की वजह

पुलिस का कहना है कि हमले के पीछे ऐसे लोग हैं जो सरकारी भूमि और वक्फ़ की भूमि पर अवैध कब्ज़ों के विरुद्ध विधायक के अभियान से नाराज़ थे.

हमला करने वाला एक व्यक्ति इब्राहिम याफ़ई कल ही सुरक्षाकर्मियों की गोली से मारा गया था और उसके दो साथी घायल हो गए थे.

पुलिस ने इस हमले से मुख्य संदिग्ध मोहम्मद याफ़ई और उसके एक साथी अब्दुल्लाह को भी गिरफ़्तार किया है.

पुलिस आयुक्त अब्दुल क़य्यूम का कहना है कि यह हमला सुनियोजित ढंग से काफ़ी तैयारी के बाद किया गया.

मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी और गृहमंत्री साबित इंद्र रेड्डी और और कई नेताओं ने लगातार दूसरे दिन अस्पताल जाकर अकबरूद्दीन का हालचाल पूछा.

अस्पताल पहुँचने वालों में भाजपा नेता विद्यासागर राव और वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष वाईएस जगनमोहन रेड्डी भी शामिल थे.

संबंधित समाचार