फिर आमने-सामने होंगे अन्ना के प्रतिनिधि और सरकार

ड्राफ़्टिंग समिति की पहली बैठक (फ़ाइल) इमेज कॉपीरइट Reuters

जन लोकपाल बिल का मसौदा तैयार करने के लिए सोमवार को ड्राफ़्टिंग समिति की दूसरी बैठक है.

रविवार को जहां एक ओर सामाजिक संगठनों और नागरिक अधिकारों के लिए लड़ रहे कार्यकर्ताओं ने कई शहरों में भ्रष्टाचार के खिलाफ़ रैलियां कीं. वहीं दूसरी ओर केंद्रीय मंत्रियों ने एक बैठक कर नागरिक समाज की ओर से तैयार किए गए जन लोकपाल बिल के मसौदे का बारीकी से विचार-विश्लेषण किया.

सरकार की ओर से समिति के अध्यक्ष वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी, गृहमंत्री पी चिदम्बरम, मानव संसाधन मंत्री कपिल सिब्बल, क़ानून मंत्री वीरप्पा मोइली और जल संसाधन मंत्री सलमान ख़ुर्शीद इस प्रक्रिया में हिस्सा ले रहे हैं.

नागरिक समाज की ओर से शांति भूषण के अलावा उनके पुत्र प्रशांत भूषण, अरविंद केजरीवाल, संतोष हेगड़े और अन्ना हज़ारे इस समिति के सदस्य हैं.

सभी मसौदों पर विचार

रविवार को कानून मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने एक बैठक में जन लोकपाल बिल के मसौदे के प्रमुख बिंदुओं को केंद्रीय मंत्रियों के सामने रखा.

यह बैठक केंद्रीय वित्त मंत्री और ड्राफ़्टिंग समिति के अध्यक्ष प्रणब मुखर्जी ने बुलाई थी. समिति के सह-अध्यक्ष जाने-माने वकील और पूर्व क़ानून मंत्री शांति भूषण हैं.

समिति की पहली बैठक 16 अप्रैल को हुई थी जिसमें दोनों पक्षों की ओर से यह तय किया गया था कि अलग-अलग पक्षों की ओर से बनाए गए लोकपाल के सभी मसौदों पर विचार किया जाएगा. दूसरी बैठक में बिल के मूलभूत सिद्घांतो पर सहमति की बात कही गई थी.

कपिल सिब्बल कह चुके हैं कि समिति का मक़सद मानसून सत्र में बिल पेश करना है.

'मुख्य न्यायाधीश भी दायरे में हो'

न्यायपालिका को लोकपाल के दायरे में लाने को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है और ड्राफ़्टिंग समिति की दूसरी बैठक में इस मसले पर भी विचार होगा.

नागरिक समाज के प्रतिनिधियों ने साफ़ कर दिया है कि वे लोकपाल बिल के दायरे में प्रधानमंत्री, भारत के मुख्य न्यायाधीश और सभी नौकरशाहों को लाना चाहते हैं.

इस बीच पूर्व मुख्य न्यायधीश जस्टिस एमएन वेंकटचलैया और जस्टिस जेएस वर्मा सार्वजनिक तौर पर यह कह चुके हैं कि न्यायपालिका को लोकपाल के दायरे से बाहर होना चाहिए.

अन्ना हज़ारे ने भी हाल ही में कहा था कि उच्च न्यायापालिका को लोकपाल के दायरे से बाहर रखा जाना चाहिए.

संबंधित समाचार