यूरोपीय शिष्टमंडल की गीलानी से भेंट रद्द

सैय्यद अली शाह गीलानी
Image caption यूरोपीय संघ के शिष्टमंडल ने हुरियत के नेता से भेंट नहीं की

भारत प्रशासित कश्मीर की यात्रा कर रहे यूरोपीय संघ के राजनयिकों ने हुरियत कॉन्फ़्रेंस के नेता सैयद अली शाह गीलानी के साथ होने वाली बैठक रद्द कर दी है.

यूरोपीय संघ का शिष्टमंडल चार दिन की यात्रा के दौरान कई नेताओं से मिला लेकिन उसने गीलानी से भेंट करने से मना कर दिया.

समझा जाता है कि अल-क़ायदा के नेता ओसामा बिन लादेन के नमाज़े जनाज़ा के आयोजन से नाराज़ होकर यूरोपीय राजनयिकों ने ये क़दम उठाया.

शिष्टमंडल की ओर से जारी वक्तव्य में बस इतना कहा गया कि 'सैयद अली शाह गीलानी के साथ शनिवार को बैठक होनी थी लेकिन नवीनतम घटनाओं के मद्देनज़र शिष्टमंडल ने ये बैठक करना उपयुक्त नहीं समझा.'

शिष्टमंडल ने'कश्मीर बार एसोसिएशन' के साथ बैठक भी रद्द कर दी.

उल्लेखनीय है कि छह मई को गीलानी ने जिस नमाज़े जनाज़ा का आयोजन किया था उसमें कश्मीर बार एसोसिएशन ने भी हिस्सा लिया था.

पाकिस्तान के ऐबटाबाद शहर में हुए एक अमरीकी सैन्य अभियान में ओसामा बिन लादेन मारे गए थे.

'कश्मीरियों का अपमान'

शिष्टमंडल के निर्णय पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए गीलानी धड़े ने कहा, "बैठक रद्द करके उन्होने कश्मीर की अधिकांश जनता की इच्छा का अपमान किया है".

हुरियत के प्रवक्ता अयाज़ अकबर ने कहा, "हम ये स्पष्ट कर चुके हैं कि ओसामा के तरीक़ों से हमारा मतभेद हो सकता है लेकिन उनके शव का निरादर मानवाधिकारों का घोर उल्लंघन था. हम ये उम्मीद करते हैं कि यूरोपीय संघ जो मानवाधिकारों का मसीहा होने का दावा करता है इस शर्मनाक घटना के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाएगा."

बार एसोसिएशन के एक अधिकारी का कहना था कि यूरोपीय शिष्टमंडल के साथ बैठक बिल्कुल आख़िरी वक़्त पर रद्द की गई.

एसोसिएशन के महासचिव ग़ुलाम नबी शाहीन ने कहा, "शिष्टमंडल के सदस्य जम्मू कश्मीर में तथ्यों का पता लगानेआए हैं लेकिन या तो उन्हे समाज के ज़रूरी लोगों से मिलने नहीं दिया जा रहा या फिर वो यहां की ज़मीनी सच्चाई को जानना ही नहीं चाहते".

बार एसोसिएशन ने यूरोपीय संघ के उच्च प्रतिनिधि को एक ज्ञापन भेजा है जिसमें अपनी नाराज़गी ज़ाहिर की है.

यूरोपीय शिष्टमंडल ने कश्मीर के गवर्नर एनएन वोहरा, मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह, पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती, पीसीसी के प्रमुख सैफ़ुद्दीन सोज़, हुरियत के उदारवादी नेता मीरवाइज़ उमर फ़ारूक़ और जेकेएलएफ़ के अध्यक्ष यासीन मलिक से मुलाक़ात की.

संबंधित समाचार