टोनी ब्लेयर के पीछे था जासूस

टोनी ब्लेयर इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अख़बार ‘न्यूज़ इंटरनेशनल’ के मुताबिक उन्हें विश्वास है कि ये आरोप पूरी तरह गलत हैं

एक लेबर सांसद ने दावा किया है कि पूर्व ब्रितानी प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर को एक निजी जासूस ने निशाना बनाया है.

टॉम वॉटसन ने सांसदों को बताया कि निजी जासूस जॉनथन रीज़ अखबार ‘न्यूज़ इंटरनेशनल’ के लिए काम करते हैं और वो टोनी ब्लेयर की निगरानी कर रहे थे.

अख़बार ‘न्यूज़ इंटरनेशनल’ के मुताबिक उन्हें विश्वास है कि ये आरोप पूरी तरह गलत हैं.

स्कॉटलैंड यार्ड ने भी स्वीकार किया है कि उन्हें इस वर्ष जनवरी के बाद से ऐसी कई शिकायतें मिली हैं.

टॉम वॉटसन पश्चिम ब्रॉमविच (पूर्व) से सांसद हैं. उनका ये बयान गृह सचिव थेरेसा मे के उस वक्तव्य के बाद आया है जिसमें उन्होंने ‘सीरियस ऑर्गनाईज़्ड क्राईम एजेंसी’ की जगह ‘राष्ट्रीय अपराध एजेंसी’ बनाने की बात की थी.

थेरेसा मे ने हाऊस-ऑफ़-कॉमंस को बताया था कि अमरीका की तरह ब्रिटेन में बनाई जा रही 'राष्ट्रीय क्राईम एजेंसी' को नए अधिकार दिए जाएंगे ताकि अपराध पर रोक लग सके.

‘न्यूज़ इंटरनेशनल’ की माफ़ी

टॉम वॉटसन ने गृह सचिव से कहा, "ये हो सकता है कि मेट्रोपॉलिटन पुलिस के पास इस विषय में कई सालों से गवाहों के बयान हों? क्या इस तरह के मामलों को मेट्रोपॉलिटन पुलिस से लेकर राष्ट्रीय अपराध एजेंसी को दे दिए जाएगा?"

इस बारे में ‘न्यूज़ इंटरनेशनल’ ने कहा है, "इस बात के प्रमाण हैं कि जॉनथन रीज़ और सदर्न इन्वेस्टिगेंशंस ने कई तरह के अखबार समूहों के साथ काम किया है. जहाँ तक टॉम वॉटसन के आरोपों का सवाल हैं, हमें विश्वास है कि वो पूरी तरह गलत हैं."

‘न्यूज़ इंटरनेशनल’ ने कहा कि पुलिस ने उनसे जॉनथन रीज़ के बारे में कोई जानकारी नहीं मांगी है, और वो पुलिस के साथ पूरा सहयोग कर रहे हैं.

कंपनी ने कहा है कि वो जानते हैं कि सांसद वॉटसन ने ये आरोप अपने संसदीय विशेषाधिकारों के अंतर्गत लगाए हैं.

इससे पहले ‘न्यूज़ इंटरनेशनल’ की खरीदार और मालिक ‘न्यूज़ ऑफ़ द वर्ल्ड’ ने अदाकारा सिएन मिलर के कई मोबाईल फ़ोन को हैक करने के लिए उनसे औपचारिक रूप से माफ़ी मांगी थी.

उन्तीस वर्षीय अभिनेत्री ने अदालत के बाहर मामले को सुलझाने के लिए करीब 70 लाख रुपए और दूसरे खर्चे लिए थे.

संबंधित समाचार