राहुल गांधी की पदयात्रा से हलचल

राहुल गांधी

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी मंगलवार की सुबह अचानक एक बार फिर ग्रेटर नोएडा के भट्टा-परसौल गाँव में पहुँच गए और वहाँ किसानों से मुलाक़ात के बाद उन्होंने पदयात्रा शुरु कर दी.

कांग्रेस पार्टी का कहना है कि राहुल गांधी 'किसान संदेश यात्रा' पर हैं और वे तीन दिनों तक गाँवों का दौरा करते हुए शनिवार को अलीगढ़ पहुँचेंगे.

शनिवार को अलीगढ़ में भूमि अधिग्रहण के मामले में किसानों की महापंचायत होनी है. राहुल गांधी के इस महापंचायत में हिस्सा लेने की संभावना है.

पहले ये महापंचायत भट्टा परसौल में प्रस्तावित थी लेकिन मायावती सरकार ने इसकी अनुमति नहीं दी.

उत्तर प्रदेश की मायावती सरकार ने राहुल गांधी की इस पदयात्रा को 'नौटंकी' क़रार दिया है.

वैसे राहुल गांधी की इस पदयात्रा के बारे में विश्लेषकों की राय है कि ये अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की तैयारी का हिस्सा दिखता है.

पदयात्रा

गत 11 मई को राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह भट्टा परसौल में

"भट्टा परसौल में जो हुआ वह बहुत से लोगों को पता नहीं है. मैं गांव गांव जाकर भूमि अधिग्रहण किस तरह से हो रहा है उसे समझना चाहता हूँ. यहाँ से आगरा तक."

समाचार एजेंसियों के अनुसार सुबह क़रीब छह बजे राहुल गांधी भट्टा-परसौल पहुँचे तो इसकी जानकारी ज़िला प्रशासन को नहीं थी.

उन्होंने सुबह की किसानों से मिलकर चर्चा शुरु कर दी और इसके बाद वे आगे बढ़ते गए और गाँव के लोगों के साथ मिलकर चर्चा करते रहे.

उल्लेखनीय है कि दो महीने पहले जब आंदोलन कर रहे किसानों पर पुलिस ने कार्रवाई की थी तब भी एक दिन सुबह राहुल गांधी भट्टा परसौल पहुँच गए थे और प्रशासन को कानों कान ख़बर नहीं हुई थी.

भट्टा परसौल के बाद राहुल गांधी रुस्तमपुर, नागला भटौना और दयानतपुर गाँवों में भी गए.

कांग्रेस पार्टी के अनुसार राहुल गांधी की पद यात्रा बुधवार को भी जारी रहेगी.

एक गांव में लोगों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, "भट्टा परसौल में जो हुआ वह बहुत से लोगों को पता नहीं है. मैं गांव गांव जाकर भूमि अधिग्रहण किस तरह से हो रहा है उसे समझना चाहता हूँ. यहाँ से आगरा तक."

उन्होंने कहा कि वे भूमि अधिग्रहण पर बने नए क़ानून के बारे में लोगों की राय भी जानना चाहते हैं.

'नौटंकी'

भट्टा परसौल (फ़ाइल फ़ोटो)

भट्टा परसौल का दौरा करने के बाद राहुल गांधी ने मौतों के आंकड़ों पर विवादास्पद बयान दे दिया था

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ बहुजन समाज पार्टी ने राहुल गांधी की इस पदयात्रा को नौटंकी क़रार दिया है.

बसपा के वरिष्‍ठ नेता और पंचायती राज्‍य मंत्री स्‍वामी प्रसाद मौर्या ने कहा है कि राहुल गांधी चाहें कितने भी बड़े हों मगर उन्‍हें इस बात का ध्‍यान रखना चाहिए कि वह किसी भी प्रदेश की कानून व्‍यवस्‍था के साथ खिलावाड़ नहीं कर सकते.

उन्‍होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस लगातार क़ानून-व्‍यवस्‍था को बिगाड़ने की कोशिश कर रही है.

दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी ने राहुल गांधी की 'किसान संदेश यात्रा' को उत्तर प्रदेश के किसानों के साथ मज़ाक क़रार देते हुए इसकी तीखी आलोचना की है.

पार्टी उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने इस यात्रा को 'कांग्रेस और बसपा का मिला-जुला खेल' क़रार देते हुए कहा है कि वह प्रदेश में राहुल गांधी का 'राजनीतिक फोटो सेशन' करा रही है.

भाजपा प्रवक्ता राजीव प्रताप रूड़ी ने भी राहुल पर तीखा कटाक्ष करते हुए कहा है कि उनकी संवेदनशीलता केवल उत्तर प्रदेश में क्यों दिखाई देती है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.