तेलंगाना के नाम पर और इस्तीफ़े

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अलग तेलंगाना राज्य के लिए त्यागपत्र देने वाले विधायकों की संख्या बढ़ी

अलग तेलंगाना राज्य की मांग के पक्ष में त्याग पत्र देने वाले विधायकों में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) के चारों सदस्य शामिल हो गए हैं जिससे कुल संख्या 97 जा पहुंची है.

विधान सभा में सीपीआई के नेता जी मल्लेश के नेतृत्व में इन विधायकों ने मंगलवार की शाम उप सभापति से भेंट करके अपने इस्ताफ़े उनके हवाले कर दिए.

त्यागपत्र देने वालों की संख्या और बढ़ने वाली है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी के दो विधायक भी त्याग पत्र देने वाले हैं.

त्यागपत्र देने वाले सभी विधायक तेलंगाना इलाक़े के हैं.

इनमें कांग्रेस के 45, तेलुगु देसम के 37 और टीआरएस के 11 सदस्य शामिल हैं.

सीपीआई के जी मल्लेश ने कहा कि केंद्र सरकार अगर अब भी अलग तेलंगाना राज्य की जनता की मांग को स्वीकार नहीं करती है तो आन्दोलन को तेज़ किया जाएगा और एक संयुक्त आन्दोलन द्वारा तेलंगाना राज्य हासिल किया जाएगा.

इससे पहले टीआरएस के नेता तारका राम राव ने कहा कि उनकी पार्टी कोई भी क़ुरबानी देने को तैयार है.

उन्होने कहा कि टीआरएस के विधायकों ने गत वर्ष इस मुद्दे पर त्यागपत्र दिया था और दोबारा चुन कर आये थे.

उनसे कोई भी त्यागपत्र की मांग नहीं कर रहा था फिर भी उन्होने त्यागपत्र दे दिया क्योंकि वो केंद्र को एक शक्तिशाली सन्देश देना चाहते थे कि तेलंगाना में अब कोई दल नहीं रह गया है और सबकी एक ही मांग है कि तेलंगाना राज्य बनाया जाए.

संबंधित समाचार