'मुरादाबाद के असतालपुर गांव में धारा 144 जारी '

पुलिस इमेज कॉपीरइट AP
Image caption हिंसक घटनाओं के बाद मुरादाबाद के असतालपुर गांव में धारा 144 लागू है.

मुरादाबाद के असतालपुर गांव में स्थिति शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है लेकिन धारा 144 अभी भी लागू है.

मुरादाबाद के ज़िलाधिकारी राजशेखर ने बीबीसी को बताया कि क्षेत्र में हाई अलर्ट घोषित है. साथ ही प्रशासन ने पूरे इलाके में पर्याप्त पुलिस बंदोबस्त किया है.

इससे पहले गुरुवार को समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव और कांग्रेस सांसद मोहम्मद अज़हरुद्दीन को उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद जाते हुए गिरफ्तार कर लिया गया था.

दोनों मुरादाबाद के हिंसा प्रभावित गांव की ओर जा रहे थे. मुलायम को दिल्ली- उत्तर प्रदेश सीमा पर गाज़ियाबाद पुलिस ने गिरफ़्तार किया था, जबकि मुरादाबाद से सांसद अजहरुद्दीन को तब गिरफ़्तार किया गया था जब वह असतालपुर गांव की ओर जा रहे थे.

पुलिस के मुताबिक, धारा 144 लागू होने के कारण मुलायम सिंह यादव को गिरफ्तार किया गया. हांलाकि बाद में दोनों नेताओं को छोड़ दिया गया.

तनाव का माहौल

मुरादाबाद के इस गांव में कथित रुप से मुसलमानों के पवित्र ग्रंथ कुरान शरीफ़ को पुलिस के अपमानित किए जाने पर बुधवार से ही तनाव का माहौल है. ख़बरों के मुताबिक बुधवार सुबह मुरादाबाद के असतालपुर गांव में पुलिस एक व्यक्ति की गिरफ़्तारी के लिए गई थी. उस पर छेड़छाड़ का आरोप था.

बताया जाता है कि इस दौरान पुलिस ने घर में मौजूद लोगों से दुर्व्यवहार किया और कथित रुप से धार्मिक ग्रंथ कुरान शरीफ़ का अपमान किया. इस बात पर गांव में तनाव फैल गया. गांव के गुस्साए लोगों ने पुलिस की जीप और पीएसी की गाड़ी को आग लगी दी और पथराव किया.

मुरादाबाद में पुलिस और जनता के बीच हुए संघर्ष के बाद से ही माहौल संवेदनशील बना हुआ है. पुलिस का कहना है कि स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए उसे ये कार्रवाई करनी पड़ी.

संबंधित समाचार