कांग्रेस-डीएमके गठबंधन जारी रहेगा: प्रणव

प्रणव मुखर्जी इमेज कॉपीरइट AP
Image caption प्रणव मुखर्जी को कांग्रेस को दिक्क़तों से उबारनेवाला नेता समझा जाता है.

केंद्रीय वित्त मंत्री और मनमोहन सिंह सरकार को मुश्किलों से उबारनेवाले प्रणव मुर्खजी ने कहा है कि डीएमके-कांग्रेस गंठबंधन जारी है और आनेवाले दिनों में वो और मज़बूत होगा.

प्रणव मुखर्जी ने शनिवार को चेन्नई में डीएमके नेता एम करूणानिधि से मुलाक़ात की.

करूणानिधि की बेटी कनिमोड़ी की गिरफ़्तारी के बाद किसी बड़े कांग्रेस नेता की डीएमके नेता से ये पहली मुलाक़ात है.

ऐसा कहा जा रहा था कि कनिमोड़ी की गिरफ़्तारी के बाद दोनों सहयोगी दलों के संबंधों में खटास आ गई है.

डीएमके ने पार्टी की एक बैठक के बाद साफ़ तौर पर कहा था कि केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई इस मामले में दोहरा मापडंड अपना रही है.

राजनीतिक चर्चा

तमिलनाडू की मुख्य मंत्री जयललिता ने ये कहकर की अगर कांग्रेस डीएमके संबंध तोड़ ले तो इनका दल उसे समर्थन देने को तैयार है, नई राजनीतिक चर्चाओं को जन्म दे दिया है.

इस बीच 2जी स्पेक्ट्रम मामले में डीएमके के एक और मंत्री दयानिधि मारन को गुरूवार को केंद्रीय मंत्रीमंडल से त्यागपत्र देना पड़ा था.

पार्टी के एक और नेता ए राजा इसी मामले में पहले से ही गिरफ़्तार हैं और दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद है.

केंद्रीय वित्त मंत्री की डीएमके नेता से मुलाक़ात को एम करूणानिधि को मनाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है.

एम करूणानिधि से मुलाक़ात करने के बाद प्रणव मुखर्जी ने कहा कि उनकी मुलाक़ात में वर्तमान राजनीतिक हालात पर चर्चा हुई और उन्होंने डीएमके नेता को सारे हालात से अवगत कराया.

उन्होंने कहा कि दोनों दलों के गठबंधन को लेकर ढेर सारी ख़बरें छापी जा रही हैं लेकिन वो सब अटकलें से ज़्यादा कुछ नहीं हैं.

संबंधित समाचार