दार्जिलिंग समझौते पर होंगे हस्ताक्षर

ममता बनर्जी इमेज कॉपीरइट AP
Image caption दार्जिलिंग समस्या पिछले 15 साल से चल रही है

सोमवार को केंद्र सरकार, पश्चिम बंगाल सरकार और गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के बीच दार्जिलिंग हिल अथॉर्टी पर त्रिपक्षीय सममझौते पर हस्ताक्षर होंगे.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता में पत्रकारों को बताया है कि 18 जुलाई को इस समझौते पर दस्तख़्त होंगे जिस दौरान गृह मंत्री पी चिदंबरम भी मौजूद रहेंगे.

उनका कहना था कि दार्जिलिंग में मौसम ठीक नहीं है इसलिए ये आयोजन सुकना में होगा जो दार्जिलिंग की परिधि में आता है.ममता बनर्जी के मुताबिक विपक्ष के नेता सूर्या कांत मिश्रा को भी आमंत्रित किया गया है.

मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई है कि इस समझौते से इलाक़े में शांति की बहाली होगी.पिछले महीने ममता बनर्जी ने कहा था कि 15 साल पुराना दार्जीलिंग मुद्दे को हल कर लिया गया है.

जानकारी के अनुसार चाय बागानों पर अधिकार को स्थानान्तरित करने और दार्जीलिंग गोरखा पर्वतीय परिषद के अस्थायी कर्मचारियों की समस्याओं को सुलझाने पर सहमति हो गई है.

हालांकि पिछले महीने कोलकाता में राज्य सरकार से समझौते पर हस्ताक्षर करने के दो दिन बाद कलिमपॉंग में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के दो गुटों में झड़प हो गई थी क्योंकि समझौते में अलग राज्य की पूरानी मांग को कथित तौर पर कमज़ोर कर दिया गया

संबंधित समाचार