अन्ना के समर्थन में उतरे डब्बावाले

डब्बेवाले इमेज कॉपीरइट BBC World Service

मुंबई के मशहूर डब्बावालों ने घोषणा की है कि अन्ना हज़ारे के समर्थन में वे 16 अगस्त को अपनी सेवाएं बंद रखेंगे.

इसी दिन अन्ना हज़ारे सरकार की ओर से पेश लोकपाल विधेयक के विरोध में आमरण अनशन शुरु कर रहे हैं.

अन्ना हज़ारे कह रहे हैं कि सरकार ने जो लोकपाल विधेयक संसद में पेश किया है वह भ्रष्टाचार को रोकने में प्रभावी साबित नहीं होगा.

उन्होंने लोकपाल के दायरे में प्रधानमंत्री, न्यायपालिका और सांसदों को लाने सहित कई मांगें रखीं थीं जिसे सरकार ने अस्वीकार कर दिया है.

समर्थन

मुंबई के डब्बावालों ने अपने कामकाज के ढंग से दुनिया भर के लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है.

कोई साढ़े चार - पाँच हज़ार डब्बेवाले हर दिन कोई दो लाख लोगों के लिए घर का बना हुआ खाना पहुँचाते हैं.

उनकी दो ख़ूबिया हैं, एक तो उनके दाम बहुत कम होते हैं और दूसरे वो समय की बहुत पाबंद होते हैं.

लेकिन इनकी सेवाएँ 16 अगस्त को मुंबई वालों के लिए उपलब्ध नहीं होंगीं क्योंकि वे अन्ना हज़ारे का समर्थन करने के लिए एक दिन के लिए कामकाज बंद रखेंगे.

मुंबई जीवन डब्बावाला एसोसिएशन के अध्यक्ष सोपान मारे ने कहा है, "हम एक कड़े लोकपाल विधेयक के अन्ना हज़ारे की मांग का समर्थन करते हैं. इसलिए 16 अगस्त को जब अन्ना हज़ारे अपना अनशन शुरु करेंगे तब हम लोगों से अपील कर रहे हैं कि वो उस दिन हमें घर से खाने का डब्बा पहुँचाने के लिए न दें."

इससे पहले डब्बावालों ने भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ाई में बाबा रामदेव का भी समर्थन किया था.

संबंधित समाचार