एनडीए को ज़िम्मेदार ठहराना हास्यास्पद: जेटली

अरुण जेटली
Image caption जेटली ने सरकार पर करारा हमला किया

राष्ट्रमंडल खेलों पर केंद्रीय खेलमंत्री अजय माकन के संसद में दिए गए बयान पर विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने सरकार पर हमला किया है.

सोमवार को अपने बयान में अजय माकन ने कहा था कि सुरेश कलमाडी की नियुक्ति के लिए एनडीए सरकार ज़िम्मेदार थी.

अरुण जेटली ने खेलमंत्री के इस दावे को हास्यास्पद बताते हुए पूछा कि क्या अजय माकन के पास इस बात का कोई सबूत है.

जेटली ने कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों पर खेल मंत्री का बयान छिपाता अधिक है और उजागर कम करता है.

अध्यक्ष सरकार ने नियुक्त करना था

अरुण जेटली ने सवाल उठाया, "ये कैसे हुआ कि जिस प्रतियोगिता पर जनता के करोड़ों रुपए लगने वाले थे, उसे कुछ लोगों की निजी संपत्ति बना दिया गया? एक ऐसा इवेंट जिसे भारतीय ओलपिंक संघ को तो दिया गया था लेकिन बिड डॉक्यूमेंट के अनुसार इसका आयोजन एक पंजीकृत नॉन-प्रॉफ़िट सरकारी सोसाइटी को करना था. "

इसके बाद जेटली ने अपने बयान के पक्ष में भारतीय ओलंपिक संघ के राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन के 'बिड डॉक्यमेंट' से पढ़ना शुरु किया.

जेटली ने कहा कि ओलंपिक संघ के अनुसार आयोजन समिति का अध्यक्ष सरकार को नियुक्त करना था और उपाध्यक्ष ओलंपिक संघ को. जेटली ने कहा कि इसी बिड के बूते पर भारत को राष्ट्रमंडल खेल आयोजित करने का अवसर मिला था.

जेटली ने कहा, "तेरह नवंबर 2003 को नई दिल्ली को राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन का ज़िम्मा दिया गया. आयोजन करने के कॉन्ट्रेक्ट में ये साफ़ लिखा गया था कि खेलों के आयोजन की ज़िम्मेदारी संयुक्त रूप से सरकार, ओलंपिक संघ और होस्ट शहर यानि नई दिल्ली की होगी. खेल मंत्री ने संयुक्त ज़िम्मेदारी वाली बात भी सदन से छुपाई."

इसके बाद अरूण जेटली ने सिलसिलेवार बताया कि कैसे कालमाडी को राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति का अध्यक्ष बनाया गया.

संबंधित समाचार