अन्ना मामले पर संसद में हंगामा

अन्ना हज़ारे इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अन्ना हज़ारे को अज्ञात स्थान पर रखा गया है

अन्ना हज़ारे को हिरासत में लिए जाने की गूँज संसद में भी उठी. संसद के दोनों सदनों राज्यसभा और लोकसभा में जम कर शोर-शराबा और हंगामा हुआ.

राज्य सभा में विपक्ष के नेता और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने अन्ना हज़ारे को हिरासत में लिए जाने पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई.

उन्होंने कहा, "अन्ना के ख़िलाफ़ कार्रवाई लोकतंत्र की हत्या है." लोकसभा में भी कमोबेश यही स्थिति रही और अन्ना के मामले में हंगामा होता रहा.

लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने प्रश्न काल को निलंबित किए जाने का नोटिस दिया था.

इनकार

अध्यक्ष मीरा कुमार ने प्रश्न काल को स्थगित करने से इनकार कर दिया.

संसदीय कार्य मंत्री पवन कुमार बंसल ने कुछ कहना चाहा, तो विपक्षी सदस्यों ने उन्हें बोलने नहीं दिया.

समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव ने कहा कि सरकार को चाहिए कि वो अन्ना हज़ारे को तुरंत रिहा करे और उनसे माफ़ी मांगे.

माना जा रहा है कि दोपहर बाद गृह मंत्री पी चिदंबरम अन्ना हज़ारे के मामले पर कोई बयान दे सकते हैं.

संबंधित समाचार