अन्ना ने प्रस्ताव प्रधानमंत्री को भेजा

अन्ना हज़ारे इमेज कॉपीरइट ap

लोकपाल को लेकर केंद्र सरकार और अन्ना हज़ारे की टीम के बीच चल रहे गतिरोध को ख़त्म करने के प्रयास में तेज़ी आई है. अन्ना हज़ारे सरकारी लोकपाल के विरोध में अनशन कर रहे हैं, आज इसका 10वाँ दिन है.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के संसद में दिए बयान के बाद बातचीत का नया दौर शुरू हुआ है.

प्रधानमंत्री ने अन्ना हज़ारे से अनशन तोड़ने की अपील करते हुए कहा था कि जनलोकपाल समेत बाक़ी लोकपाल के मसौदे पर संसद में चर्चा हो सकती है और एक प्रभावी विधेयक लाया जा सकता है.

अन्ना हज़ारे की टीम के एक सदस्य मनीष सिसौदिया ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा है कि अन्ना हज़ारे ने अपना प्रस्ताव प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के पास भेज दिया है.

प्रस्ताव

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मनमोहन सिंह के पास अन्ना का प्रस्ताव भेजा गया है

उन्होंने बताया कि केंद्रीय मंत्री विलासराव देशमुख ने अन्ना हज़ारे से मुलाक़ात की है और उनके माध्यम से अन्ना जी ने प्रस्ताव प्रधानमंत्री के पास भेजा है.

अब अन्ना हज़ारे को प्रधानमंत्री के जवाब की प्रतीक्षा है और इसके बाद वे लोगों को संबोधित करेंगे.

मनीष सिसौदिया ने कहा कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और संसद के बाक़ी सदस्यों ने अन्ना हज़ारे से अपील की है और उनसे अनशन तोड़ने को कहा है.

अब अन्ना हज़ारे की टीम को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के जवाब का इंतज़ार है. इस बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के आवासा सात रेसकोर्स के बाहर धीरे-धीरे अन्ना समर्थकों के पहुँचने का सिलसिला शुरू हो गया है.

अन्ना हज़ारे की टीम ने समर्थकों से अपील की थी कि वे प्रधानमंत्री आवास के बाहर प्रदर्शन करें. इसके मद्देनज़र सात रेसकोर्स के आसपास भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है.

संबंधित समाचार