रामदेव के ख़िलाफ़ मामला दर्ज

इमेज कॉपीरइट AP

योग गुरु स्वामी रामदेव और हरिद्वार स्थित उनकी ट्रस्ट के ख़िलाफ़ प्रवर्तन निदेशालय ने विदेशी मुद्रा क़ानून के कथित उल्लंघन का मामला दर्ज किया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने आधिकारिक सूत्रों के हवाले से ख़बर दी है कि निदेशालय ने रामदेव की ट्रस्ट द्वारा संदिग्ध वित्तीय लेन-देन पर आरबीआई की रिपोर्ट और विदेशों से मिली जानकारी के आधार पर कार्रवाई की है.

सूत्रों के मुताबिक़ प्रवर्तन निदेशालय को अपनी जांच में पहले ही विदेशों से पैसे के कथित लेन-देन की जानकारी मिली थी और अब फ़ेमा यानि विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम के प्रावधानों के तहत कार्रवाई की गई है.

विदेशों में लेन-देन

रामदेव के पैसों के लेन-देन की जांच के क्रम में प्रवर्तन निदेशालय ने स्कॉटलैंड स्थित उनके टापू के वित्तीय ब्योरे की जानकारी के लिए ब्रितानी अधिकारियों से भी संपर्क किया था.

ये टापू योग गुरु रामदेव के एक भक्त दंपति ने उन्हें उपहार में दिया है.

स्कॉटलैंड स्थित ये टापू विदेशों में रामदेव के मुख्यालय और स्वास्थ्य लाभ केंद्र के रूप में इस्तेमाल होता है.

निदेशालय ने ब्रितानी अधिकारियों से रामदेव के ट्रस्ट की फ़ंडिंग से संबंधित जानकारियां मांगी हैं.

प्रवर्तन निदेशालय की जांच का मक़सद रामदेव के पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट, दिव्ययोग मंदिर ट्रस्ट और भारत स्वाभिमान ट्रस्ट जैसे विभिन्न ट्रस्टों को मिलने वाली राशि और उनके लेन-देन की जांच करना है.

निदेशालय ने द्वीपीय देश मेडागास्कर के अधिकारियों से भी इस सिलसिले में संपर्क किया है.

संबंधित समाचार