दिल्ली में हाल के वर्षों के बम धमाके

दिल्ली

भारत की राजधानी दिल्ली में में हाल के वर्षों में कई चरमपंथी घटनाएँ हुई हैं. आइए एक नज़र डालते हैं प्रमुख घटनाओं पर:

सितंबर 7 2011: सुबह क़रीब सवा दस बजे दिल्ली हाईकोर्ट के गेट नंबर पाँच के बाहर बम धमाका कम से कम नौ मरे 50 के क़रीब घायल.

मई 25, 2011: दिल्ली हाई कोर्ट के बाहर मामूली धमाका, कोई हताहत नहीं.

सितंबर 19, 2010: मोटरसाइकिल पर सवार अज्ञात बंदूकधारियों ने दिल्ली में राष्ट्रमंडल खेलों से पहले जामा मस्जिद के बाहर विदेशी पर्यटकों की एक बस को निशाना बनाया और दो ताईवानी नागरिकों को घायल कर दिया.

सितंबर 27, 2008: दिल्ली में महरौली के बाज़ार में फेंके गए एक देसी बम हमले में तीन लोग मारे गए.

सितंबर 13, 2008: दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर हुए बम धमाकों में कम के कम 26 लोग मारे गए और अनेक घायल हुए.

अप्रेल 14, 2006: दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद के प्रांगण में दो धमाके, 14 लोग घायल.

अक्टूबर 29, 2005: शहर के सरोजिनी नगर, पहाड़गंज, गोविन्दपुरी में तीन क्रमवार धमाके 59 से ज़्यादा मौतें 100 के ऊपर घायल.

मई 22 , 2005: दो सिनेमाघरों में हुए धमाकों में दो मरे कई घायल.

जून 18 , 2000: लाल किले के पास हुए ताकतवर बम धमाकों में इक आठ साल की बच्ची सहित दो लोग मरे

मार्च 16, 2000: भीड़ भाड़ भरे सदर बाज़ार के इलाके में धमाका,सात लोग मरे

जनवरी 6, 2000: पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर खड़ी एक ट्रेन के भीतर धमाका 20 लोग घायल.

जून 3, 1999: लाल किले और चांदनी चौक के बीच हुए धमाके में 27 घायल.

अगस्त 31 1998: भीड़ भाड़ भरे तुर्कमान गेट के पास के इलाके में बम धमाका में एक व्यक्ति की मृत्यु 17 अन्य घायल.

जुलाई 14, 1997: लाल किले के पास हुए धमाकों में 18 लोगों की मौत.

मई 23, 1996: लाजपत नगर सेन्ट्रल मार्केट में बम धमाका में कम से कम 16 लोगों की मौत.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.