प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'इमारतें ज़ोर-ज़ोर से हिल रही थीं'

सिक्किम में आए भूकंप ने स्थानीय लोगों के मन में दहशत पैदा कर दी है.

ज़ोर से हिलती हुई इमारतें, सड़कों पर चलने वाले वाहनों का नियंत्रण खो देना, रोते-बिलखते लोग और अफ़रा-तफ़री...ये ही सब याद है मृणाल राना को जिन्होंने भूकंप आने के बाद अपने आस पास मौजूद लोगों की मदद करने की पहल की.

सुनिए उनकी आंखोदेखी.