नेशनल कांफ्रेस कार्यकर्ता की मौत ने तूल पकड़ा

जम्मू कश्मीर में सत्तारुढ़ नेशनल कांफ्रेस के एक कार्यकर्ता मोहम्मद युसूफ की पुलिस हिरासत में मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है.

जहां राज्य के वित्त मंत्री ने मुख्यमंत्री उमर अबदुल्लाह का बचाव किया है वहीं विपक्षी दल पर आरोप लगया है कि वो इस मामले का राजनीतिकरण कर रहा है.

ये मामला सत्तारुढ़ नेशनल कांफ्रेस के ही एक कार्यकर्ता का है. ये कार्यकर्ता मुख्यमंत्री से मिला था जिसके बाद उसे पुलिस को सौंप दिया गया और यह कार्यकर्ता पुलिस हिरासत में मारा गया.

विपक्ष का आरोप है कि इस कार्यकर्ता की मौत के पीछे मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह की मिलीभगत है. इस मामले में एफआईआर भी रजिस्टर नहीं हुई थी.

विपक्षी दलों ने मुख्यमंत्री को बर्खास्त करने की मांग भी की है.

हालांकि अब मामला तूल पकड़ गया है और मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए गए हैं.

विपक्षी दल पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता महबूबा मुफ्ती ने इस मामले में सीधे सीधे मुख्यमंत्री को कठघरे में खड़ा किया है.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार नेशनल कांफ्रेस के इस कार्यकर्ता को कुछ ख़ास मामलों की जानकारी थी और संभवत यही उसकी मौत का कारण बना.

मुख्यमंत्री ने इस मामले में पूरी जांच के आदेश पहले ही दिए थे लेकिन अब न्यायिक जांच भी हो रही है.

संबंधित समाचार