हंगामे के बाद विधानसभा अनिश्चित काल के लिए स्थगित

जम्मू कश्मीर विधानसभा इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption जम्मू कश्मीर विधानसभा में सोमवार को भी विपक्षी दलों ने ज़ोरदार हंगामा किया था

भारत प्रशासित राज्य जम्मू कश्मीर में सत्तारूढ़ नेशनल कॉन्फ़्रेंस (एनसी) के कार्यकर्ता की कथित रूप से पुलिस हिरासत में हुई मौत पर चर्चा की मांग पर विपक्षी दल पीपुल्स डेमोकेट्रिक पार्टी (पीडीपी) ने मंगलवार को विधानसभा में फिर हंगामा किया.

इसके बाद विधानसभा की बैठक अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई.

एनसी कार्यकर्ता सैयद मोहम्मद युसूफ़ की पिछले हफ़्ते मौत हो गई थी.

विपक्ष का आरोप है कि इस मौत में मुख्यमंत्री कार्यालय भी शामिल है जबकि सत्तारूढ़ दल पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर कह रहा है कि उनकी मौत दिल के दौरे से हुई है.

विपक्षी दबाव के बाद सरकार ने सोमवार को इस मामले की न्यायिक जाँच के आदेश दिए थे.

शोर-शराबा

पीडीपी ने मंगलवार को एक बार फिर स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया था. उसकी मांग थी कि सैयद मोहम्मद युसूफ़ की मौत पर सदन में चर्चा होनी चाहिए.

लेकिन विधानसभा अध्यक्ष मोहम्मद अकबर लोन ने पीडीपी की मांग ख़ारिज कर दी और कहा कि इसमें नया कुछ भी नहीं है और उन्होंने सोमवार को ऐसी ही एक नोटिस ख़ारिज की थी.

विधानसभा अध्यक्ष का कहना था, "ये ठीक नहीं होगा क्योंकि मुख्यमंत्री ने हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से इस मामले की जाँच एक न्यायाधीश से करवानी का अनुरोध किया है, ऐसे में इस विषय पर चर्चा का प्रतिकूल असर होगा."

विधानसभा अध्यक्ष के इस फ़ैसले का विरोध करते हुए पीडीपी के सदस्य अध्यक्ष की कुर्सी के पास आ गए और नारेबाज़ी करने लगे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती ने अख़बारों का हवाला देते हुए दावा किया कि हाईकोर्ट ने सरकार की अपील ठुकरा दी है.

लेकिन विधानसभा अध्यक्ष इस बात पर क़ायम रहे कि चूंकि मामले की न्यायिक जाँच हो रही है इसलिए इस पर सदन में चर्चा नहीं हो सकती.

वरिष्ठ पीडीपी नेता मुज़फ़्फ़र हुसैन बेग़ ने इस फ़ैसले का विरोध करते हुए कहा कि जब न्यायालय में विचाराधीन होते हुए 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले पर संसद में चर्चा हो सकती है तो इस मामले पर यहाँ चर्चा क्यों नहीं हो सकती?

नेशनल पेंथर्स पार्टी (एनपीपी) के नेता हर्ष देव सिंह और सीपीएम के विधायक एमवाई तारिगामी ने भी सदन में इस विषय पर चर्चा का समर्थन किया.

शोरशराबे के बीच विधानसभा अध्यक्ष ने अनिश्चितकाल तक विधानसभा की बैठक स्थगित करने की घोषणा कर दी.

संबंधित समाचार