पाकिस्तानी कश्मीर में चीनियों की मौजूदगी का दावा

सेनाध्यक्ष वी के सिंह
Image caption पाकिस्तान-प्रशासित कश्मीर में चीनी सेना मौजूदगी का मुद्दा भारत पहले भी चीन के समक्ष उठा चुका है.

भारतीय सेनाध्यक्ष जनरल वी के सिंह ने कहा है कि पाक-प्रशासित कश्मीर में क़रीब 4,000 चीनी लोग मौजूद हैं, जिनमें से कई चीन की सेना ‘पीपल्स लिबरेशन आर्मी’ या पीएलए का हिस्सा हैं.

एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, “वहाँ निर्माण के काम में लगे कई समूह मौजूद हैं. लगभग 3,000 से 4,000 लोगों में से कई सुरक्षा के मक़सद से वहां कार्यरत हैं. कुछ लोग सेना के इंजीनियरिंग विभाग से जुड़े हुए हैं. ऐसा भारतीय सेना में भी होता है जहाँ इंजीनियरों के पास लड़ाकू क्षमता भी होती है. तो ऐसे इंजीनियर किसी न किसी तरह चीनी सेना पीएलए से जुड़े हुए ही हैं.”

उन्होंने ये बयान तब दिया जब उनसे पाक-प्रशासित कश्मीर में चीनी सेना की मौजूदगी के बारे में पूछा गया.

उल्लेखनीय है कि ये बयान ऐसे समय में आया है जबकि पाक-प्रशासित कश्मीर में चीन की सेना की मौजूदगी ने भारतीय सेना के लिए चिंता पैदा कर दी है.

भारत का पक्ष है कि पाकिस्तान-प्रशासित कश्मीर उसका ही हिस्सा है.

वायु सेना अध्यक्ष एनएके ब्राउन ने भी पिछले दिनों एक साक्षात्कार में कहा था कि पाक-प्रशासित कश्मीर में चीन की सेना की मौजूदगी बढ़ती जा रही है जिस ओर ‘भारत का ध्यान आकर्षित होना चाहिए’.

पाकिस्तान-प्रशासित कश्मीर में चीनी सेना की मौजूदगी का मुद्दा भारत पहले भी चीन के समक्ष उठा चुका है.

पिछले साल ऐसी ख़बरें आई थीं कि जम्मू-कश्मीर के गिलगित-बल्टिस्तान में चीन के 11,000 सैनिक मौजूद हैं. हालांकि चीन ने कहा था कि वो कुछ ग़लत नहीं कर रहा है.

हाल ही में भारतीय सेना के एक वरिष्ठ कमांडर ने कहा था कि चीन के कर्मचारी पाकिस्तान-प्रशासित कश्मीर के अलावा नियंत्रण रेखा के पास भी राजमार्ग निर्माण और बांध बनाने जैसे निर्माण कार्य में लगे हैं.

जब सेनाध्यक्ष वी के सिंह से जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा स्थिति के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि नियंत्रण रेखा के पास चरमपंथी गतिविधि ज्यों की त्यों बनी हुई है और बड़ी संख्या में चरमपंथी घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि नियंत्रण रेखा के पार से होने वाले घुसपैठ के प्रयासों को रोकने के लिए सेना पूरी कोशिश कर रही है और किसी भी प्रकार का ख़तरे का सामना करने के लिए सक्षम है.

संबंधित समाचार