बारूदी सुरंग विस्फोट में चार जवान मरे

छत्तीसगढ़ में माओवादी इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption छत्तीसगढ़ में सशस्त्र बल के लोग माओवादियों के हमले का शिकार होते रहे हैं

छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में हुए एक ज़ोरदार बारूदी सुरंग के विस्फोट में सशस्त्र सीमा बल के चार जवानों के मारे जाने और पाँच के घायल होने की खबर है. यह सभी जवान दंतेवाड़ा के गीदम इलाक़े से जगदलपुर जा रहे थे.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरजीत सिंह ने बीबीसी को बताया कि घटनास्थल जगदलपुर और दंतेवाड़ा के बीच राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर है और माओवादियों द्वारा बारूदी सुरंग सड़क के बीचों-बीच लगाई गई थी. यह उच्च मार्ग छत्तीसगढ़ को प्रदेश के अंदरूनी हिस्से से जोड़ता है. पुलिस का कहना है कि विस्फोट इतना ज़ोरदार था कि इसकी आवाज़ कई मीलों तक सुनाई दी. विस्फोट में सशस्त्र सीमा बल के जवानों को ले जा रहा वाहन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया. बचाओ में लगे एक अन्य अधिकारी का कहना था, "यह घटना गीदम से छह किलोमीटर दूर एक घाटी पर हुई. अमूमन इस घाटी को उतना संवेदनशील नहीं माना जाता क्योंकि यहाँ रात दिन वाहनों का आवागमन लगा रहता है.

इसलिए शायद जवानों ने वाहन से उतारकर पैदल चलने की ज़रुरत नहीं समझी होगी." फ़िलहाल हमले में घायल जवानों को जगदलपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराने की कवायद चल रही है जबकि गंभीर रूप से घायल जवानों को राजधानी रायपुर बेजा जा रहा है.

संबंधित समाचार