प्रशांत भूषण पर हमला करने वाले गिरफ़्तार

प्रशांत भूषण इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption प्रशांत भूषण ने कहा है कि वे कश्मीर वाले अपने बयान पर क़ायम हैं

सुप्रीम कोर्ट के चर्चित वकील और टीम अन्ना के सदस्य प्रशांत भूषण पर हमला करने वाले दो लोगों को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है.

ये दोनों लोग प्रशांत भूषण पर हमला करने के बाद भाग गए थे, जबकि एक व्यक्ति मौक़े पर ही पकड़ लिया गया था.

पुलिस ने गुरुवार की सुबह तेजिंदर पाल सिंह बग्गा और विष्णु गुप्ता को दिल्ली के बाबा खड़ग सिंह मार्ग के पास से गिरफ़्तार कर लिया.

जबकि इंदर वर्मा को मौक़े से ही गिरफ़्तार कर लिया गया. बुधवार को ये तीनों सुप्रीम कोर्ट के पास स्थित प्रशांत भूषण के कार्यालय में घुस गए और उनके साथ मारपीट की.

नाराज़गी

दो लोग तो वहाँ से भागने में सफल रहे, लेकिन एक व्यक्ति को पकड़ लिया गया था. उस समय प्रशांत भूषण एक टीवी चैनल को इंटरव्यू दे रहे थे.

बाद में प्रशांत भूषण को राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया और जाँच के बाद उन्हें छुट्टी दे गई. हमलावरों का दावा है कि वे भगत सिंह क्रांति सेना के सदस्य है.

प्रशांत भूषण पर हमले के बाद इन लोगों ने मीडिया को एक ईमेल भेजकर हमले की ज़िम्मेदारी ली और बताया कि पिछले दिनों कश्मीर पर उनकी टिप्पणी के कारण वे काफ़ी नाराज़ हैं.

वाराणसी में प्रेस से मिलिए कार्यक्रम के दौरान प्रशांत भूषण ने कहा था कि कश्मीर से सेना हटा ली जानी चाहिए, सेना के विशेषाधिकार ख़त्म कर देने चाहिए और ज़रूरत पड़ने पर जनमतसंग्रह कराया जाना चाहिए और अगर वहाँ के लोग भारत के अलग होना चाहते हैं तो ऐसा करने देना चाहिए.

संबंधित समाचार