उत्तर प्रदेश में यात्राएं ही यात्राएं...

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption आडवाणी अपनी जन चेतना यात्रा में कई राज्यों से होकर गुजरेंगे

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों की घोषणा भले न हुई हो लेकिन हर राजनीतिक दल यात्राओं के ज़रिए चुनाव प्रचार में अभी से लग गया है.

भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश के दो बड़े नेताओं की रैली गुरुवार से शुरु हो रही है जबकि वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी अपनी जनचेतना रैली के तहत बनारस पहुंचने वाले हैं.

इसके अलावा कांग्रेस के नेता राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव भी यात्राओं पर हैं.

इतना ही नहीं मुख्यमंत्री मायावती भी 14 अक्तूबर को अंबेडकर पार्क का भव्य उदघाटन करने वाली हैं जिस अवसर पर नोएडा में बड़ी रैली होने के आसार हैं.

बीजेपी के राजनाथ सिंह मथुरा से और कलराज मिस्र बनारस से स्वाभिमान रैलियां निकाल रहे हैं.

कलराज मिश्र की यात्रा को लालकृष्ण आडवाणी हरी झंडी दिखाएंगे.

उल्लेखनीय है कि आडवाणी खुद ही जनचेतना रैली यात्रा कर रहे हैं और इसी के तरह गुरुवार को वो बनारस पहुंचेंगे.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption राहुल गांधी लगातार यूपी में पदयात्राएं करते रहे हैं.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी पिछले कुछ दिन से बुंदेलखंड में गांव गांव घूम रहे हैं और लोगों से मिल रहे हैं. आए दिन दलित बस्तियों में रात गुजारने और खाना खाने की तस्वीरें अख़बारों में छप रही हैं.

समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव भी पीछे नहीं हैं और वो पिछले कई हफ्तों से क्रांति रथ यात्रा चला रहे हैं. इस समय अखिलेश रुहेलखंड क्षेत्र में लोगों से मिल रहे हैं.

मुख्यमंत्री मायावती भी परोक्ष चुनाव प्रचार में पीछे नहीं हैं. आए दिन राज्य सरकार अख़बारों में और टीवी पर विज्ञापन तो दे ही रही है साथ में 14 अक्तूबर को अंबेडकर पार्क के उदघाटन के ज़रिए मायावती लोगों को संबोधित भी करने वाली है.

उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष फरवरी मार्च में चुनाव होने वाले हैं और इससे पहले सभी नेताओं की यात्रा सिर्फ़ और सिर्फ़ चुनाव प्रचार की तरफ ही इशारा करती हैं.

संबंधित समाचार