तेलंगानाः आंदोलन पर सरकार सख़्त

telangana railroko इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption आंदोलन के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को भी नूक़सान पहुंचाया गया है.

आंध्र प्रदेश में अलग तेलंगाना राज्य के समर्थन में शनिवार से शुरु हुआ तीन दिनों का रेल रोको आंदोलन रविवार को और तेज़ हो गया है. उधर राज्य सरकार ने आंदोलनकारियों के प्रति अपना रुख कड़ा कर किया है.

सरकार ने स्कूल प्रबंधनो से कहा है कि वो उसे बंद न रखें. उन्हें स्कूलों को सोमवार से खोलने के हुक्म दिए गए हैं और कहा गया है कि आदेश की अवहेलना करने पर उनके ख़िलाफ़ कारवाई की जाएगी.

प्रदेश के तेलंगाना क्षेत्र और उसके कारण दूसरे इलाक़ों में रेल सेवा शनिवार से ही बड़े पैमान पर प्रभावित हुई है. दक्षिणी मध्य रेलवे ने आंदोलन के पहले दिन ही 100 सेवाओं को रद्द करने की घोषणा कर दी थी.

पुलिस ने कुछ अहम नेताओं को गिरफ़्तार भी किया था. इनमें से कुछ को ज़मानत पर रिहा किए जाने के समाचार हैं.

बंद

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ तेलंगाना संयुक्त समीति ने सोमवार को एक बंद का आहवान किया है. हालांकि राज्य सड़क परिवहन निगम ने फिलहाल ख़ुद को बंद से अलग रखने का फै़सला किया है.

राज्य के तेलंगाना क्षेत्र में पिछले एक महीने से अधिक से हड़ताल जारी है जिस दौरान अलग राज्य बनाने के लिए आंदोलन चलानेवाले कुछ नेताओं ने दिल्ली आकर प्रधानमंत्री और केंद्र सरकार के दूसरे मंत्रियों से भी भेंट की थी.

केंद्र सरकार इस मामले पर और समय की मांग कर रही है. क्षेत्र के नेताओं ने कहा है कि जब तक केंद्र इस मामले पर कोई ठोस क़दम नहीं उठाती है हड़ताल जारी रहेगी.

संबंधित समाचार