इबसा शिखरवार्ता के लिए मनमोहन रवाना

मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मनमोहन सिंह अगले महीने आयोजित होने वाले जी 20 सम्मेलन में भी भाग लेंगे.

आईबीएसए के त्रिपक्षीय शिखर सम्मलेन में भाग लेने के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सोमवार को प्रीटोरिया के लिए रवाना हुए हैं.

माना जा रहा है कि भारत, दक्षिण अफ़्रीका और ब्राज़ील जैसे देशों वाले इस सम्मेलन में कठिन आर्थिक परिदृश्य और सुरक्षा हालातों जैसे वैश्विक मुद्दे छाए रहेंगे.

अपनी तीन दिनों कि यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ब्राज़ील के राष्ट्रपति डेल्मा रौसेफ़ और दक्षिण अफ्री़की राष्ट्रपति जैकब ज़ूमा के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे.

इस अहम यात्रा पर रवाना होने से पहले जारी किए गए एक बयान में मनमोहन सिंह ने कहा है कि सम्मेलन में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में आईबीएसए देशों के बीच समन्वय, विकास, यूएनएफसीसीसी जैसे विषयों पर बल दिए जाने की संभावना है.

मज़बूत मंच

प्रधानमंत्री ने अपने बयान में कहा कि आईबीएसए विचार मंच हाल के वर्षों में मज़बूत बनकर उभरा है और संबंधित पक्षों के बीच व्यापक सहयोग भी है. उन्होंने कहा, "ये बहुत सुखद संयोग है कि 2011 में भारत, ब्राज़ील और दक्षिण अफ्रीका संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य हैं. हमने सुरक्षा परिषद के समक्ष चर्चा के लिए आए मुद्दों पर बेहतर तालमेल दिखाया है."

मनमोहन सिंह ने इस बात पर भी ज़ोर दिया है कि तीन तेज़ी से विकसित होते लोकतंत्र - ब्राज़ील, भारत और दक्षिण अफ्रीका जटिल वैश्विक माहौल में एकसाथ काम कर रहे हैं और उनके बीच सहयोग गहरा हुआ है.

आईबीएसए शिखर वार्ता में आतंकवाद और नौवहन सुरक्षा जैसे अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भी चर्चा होने की उम्मीद जताई जा रही है.

इस सम्मलेन के दौरान तीनों नेताओं में वैश्विक वित्तीय स्थिति पर चर्चा और विचारों पर समन्वय महत्वपूर्ण रहेगा, क्योंकि तीनों नेता अगले माह कान्स में होने जा रहे जी 20 सम्मेलन में भी भाग लेंगे.

गौरतलब है कि भारतीय विदेश मंत्रालय प्रवक्ता विष्णु प्रकाश ने हाल ही में कहा था कि आईबीएसए साझी विचारधारा वाले विकासशील देशों का एक मंच है और इसमें किसी के भी खिलाफ 'खेमेबंदी' नहीं की जाती.

संबंधित समाचार