आयोग ने विधायक को अयोग्य घोषित किया

india election इमेज कॉपीरइट AP
Image caption चुनाव प्रचार पर एक उम्मीदवार को 10 लाख से अधिक खर्च करने की अनुमति नहीं है.

'पेड न्यूज़' मामले में पहली बार कार्रवाई करते हुए चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश की महिला विधायक उमलेश यादव को तीन साल के लिए अयोग्य घोषित कर दिया है.

उमलेश राष्ट्रीय परिवर्तन दल के नेता और व्यापारी डीपी यादव की पत्नी हैं.

उन पर बिसौली से राष्ट्रीय परिवर्तन दल की विधायक के तौर पर वर्ष 2007 में चुनाव के दौरान अनुकूल मीडिया कवरेज पर किए गए ख़र्च का सही खुलासा न करने का आरोप था.

उमलेश यादव को तीन साल के लिए चुनाव लड़ने से रोका गया है.

पराजित प्रत्याशी योगेंद्र कुमार ने उमलेश के खिलाफ शिकायत की थी.

प्रेस काउंसिल पहले ही इस पर अपना फैसला सुना चुकी है.

संवाददाताओं का कहना है कि 'पेड न्यूज़' यानि नेताओं के अनुकूल मीडिया कवरेज के लिए भुगतान से कई बड़े मीडिया घरानों की छवि ख़राब हुई है.

प्रेस परिषद की एक रिपोर्ट अपने अभियानों की अख़बारों और टीवी चैनलों में सकारात्मक कवरेज ख़रीदने के भारत के कई नेताओं के उदाहरण देती है.

चुनाव आयोग ने उमलेश यादव को अभियान खर्च की सीमा से अधिक खर्च करने का दोषी भी पाया. चुनाव प्रचार पर एक उम्मीदवार को 10 लाख से अधिक खर्च करने की अनुमति नहीं है.

संबंधित समाचार