महिपाल मदेरणा कांग्रेस से निष्कासित

maderna इमेज कॉपीरइट pti
Image caption मदेरणा इस मामले में अपनी भूमिका से इनकार करते रहे हैं

राजस्थान के चर्चित भंवरी देवी मामले में विपक्षी दलों की आलोचनाओं से घिरी राजस्थान प्रदेश कांग्रेस पार्टी ने निलंबित मंत्री महिपाल मदेरणा की प्राथमिक सदस्यता रद्द कर दी है.

मदेरणा को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ चंद्रभान ने पार्टी से निष्कासित किया.

मदेरणा भंवरी देवी मामले में संदेह के घेरे में हैं.

इस मामले में सीबीआई ने मदेरणा से लगातार दो दिनों तक पूछताछ की थी. लेकिन शनिवार को मदेरणा खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर सीबीआई के सामने पेश नहीं हुए.

प्रदेश कांग्रेस ने लंबे समय से मदेरणा के खिलाफ़ कड़ी कार्रवाई का मन बना रही थी क्योंकि इस मामले ने गहलोत सरकार की छवि को बहुत नुक़सान पहुँचा है.

इस मामले में विपक्षी दल मुख्यमंत्री के इस्तीफ़े की मांग कर रहे हैं.

साख बचाने की कोशिश

माना जा रहा है कि मदेरणा को पार्टी से निकाल कांग्रेस कहीं ना कहीं अपनी साख बचाने की कोशिश कर रही है.

इससे पहले शनिवार को सीबीआई ने मदेरणा की पत्नी लीला मदेरणा और कांग्रेस के विधायक मलखान सिंह के साथ लगातार छह घंटे तक जोधपुर में पूछताछ करती रही.

लीला मदेरणा ने पूछताछ में अपने पति को बेकसूर और सीडी को नकली बताया है.

लीला ने आरोप लगाया कि ये मामला उनके परिवार को बदनाम करने के लिए विरोधियों की साज़िश है.

लीला ने कहा कि उन्हें मदेरणा और भंवरी के बीच किसी तरह से संबंध होने की जानकारी नहीं है, और पूरा मामला राजनैतिक षडयंत्र है.

लीला मदेरणा ने कहा, "मेरे पति और भंवरी के बीच कोई संबंध था भी तो वो आपसी रज़ामंदी से था ना कि ज़ोर ज़बरदस्ती से."

मदेरणा को एक सीडी में कथित तौर पर भंवरी देवी के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पाया गया था, जिसके बाद भंवरी देवी का अपहरण हो गया था.

भंवरी देवी के पति अमरचंद ने मंत्री महिपाल मदेरणा पर भंवरी के अपहरण का आरोप लगाया है.

इस बीच महिपाल मदेरणा को शनिवार आधी रात खराब तबियत की शिकायत पर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

नर्स और संस्कृतिकर्मी भंवरी देवी के बारे में अभी तक ये पता नहीं चल सका है कि उनका क्या हुआ.

संबंधित समाचार