विभाजन पर मायावती लाएंगी प्रस्ताव

मायावती इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मायावती ने कहा है कि विधानसभा के आगामी सत्र में राज्य के विभाजन का प्रस्ताव लाया जाएगा.

उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने घोषणा की है कि उत्तर प्रदेश को चार राज्यों में बांटने के लिए विधान सभा के अगले अधिवेशन में प्रस्ताव लाया जाएगा.

अधिवेशन अगले हफ़्ते 21 नवंबर से प्रस्तावित है.

मायावती ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि संविधान के अनुसार नए राज्यों के गठन का अधिकार केंद्र सरकार को है. इसके लिए संसद को ही कानून बनाने का अधिकार है.

मायावती के अनुसार उन्होंने इस संबंध में केन्द्र सरकार को कई पत्र लिखे हैं लेकिन केंद्र की भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस सरकारों ने इसके लिए कोई कदम नही उठाए.

विभाजन की सिफ़ारिश

मायावती ने बताया कि अब केंद्र पर दबाव बढ़ाने के लिए उनके मंत्रिमंडल ने उत्तर प्रदेश को बांटकर चार राज्यों के गठन का प्रस्ताव विधान सभा से पास कराने का फैसला किया है.

मायावती के अनुसार इस प्रस्ताव में उत्तर प्रदेश को चार नए राज्यों - पूर्वांचल, बुंदेलखंड, अवध प्रदेश और पश्चिम प्रदेश में बांटने की सिफारिश की जाएगी.

ये प्रस्ताव विधान सभा में पारित करवाकर केंद्र सरकार को भेजा जाएगा.

मायावती ने विधान सभा में प्रस्ताव लाने की बात तब कही है जबकि विधानसभा का अगला चुनाव होने वाला है.

विपक्ष का कहना है कि मायावती अपनी सरकार की विफलताओं से जनता का ध्यान हटाने के लिए उत्तर प्रदेश को बांटने की बात कर रही हैं और ये काम जल्दीबाजी में नही होना चाहिए.

संबंधित समाचार