पेट से निकले 421 सिक्के,196 नट,17 बोल्ट

फ़ाइल फ़ोटो
Image caption छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में 28 वर्षीय कुलेश्वर सिंह के पेट से डाक्टरों नें 6 किलो से भी ज़्यादा लोहा निकाला है.

421 सिक्के, 196 नट, 17 बोल्ट और तीन लोहे की चाबियाँ.

यह कोई अलमारी की दराज़ में रखी हुईं चीज़ें नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में 28 वर्षीय कुलेश्वर सिंह के पेट से निकला सामान है.

तीन घंटों तक चले आपरेशन के बाद डाक्टरों नें कुलेश्वर के पेट से 6 किलो से भी ज़्यादा लोहा निकाला है.

हालाँकि ऑपरेशन के कुछ घंटों बाद ही उसकी मौत हो गई.

बताया जा रहा है कि कुलेश्वर मानसिक रूप से कमज़ोर था.

उसके घरवालों को ये नहीं ही नही चल पाया कि उसने ये सब कुछ कब खाया.

वो लंबे समय से पेट में दर्द की शिकायत करता रहता था. पहले डाक्टरों को लगा कि उसे कोई सामान्य पेट का रोग है.

बाद में जांच करने पर भी इस बात का पता नहीं चल पाया कि उसके पेट में इतनी सामग्री मौजूद है. परिक्षण की रिपोर्टों में अंतड़ियों में रुकावट की बात सामने आई.

पेट में दर्द

कोरबा के श्रृष्टि मेडिकल अस्पताल और शोध संस्थान के डाक्टरों नें जब रविवार को कुलेश्वर का आपरेशन किया तो वह दंग रह गए.

तीन घंटों तक चले आपरेशन में एक के बाद एक सिक्के, नट और बोल्ट निकलते चले गए.

डाक्टरों को आश्चर्य है कि इतना सबकुछ होने के बावजूद कुलेश्वर की अंतड़ियों को ज़्यादा नुकसान नहीं पहुंचा था लेकिन इंफेक्शन से उसकी मौत हो गई.

ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर एसएन यादव नें पत्रकारों को बताया कि आम तौर पर मानसिक रोग की वजह से मरीज़ को इस तरह की चीज़ें खाना अच्छा लगता है. मगर आश्चर्य इस बात का है कि कुलेश्वर के घर वालों नें कभी उसे ये सब खाते हुए नहीं देखा.

कुलेश्वर की पत्नी कुसुम का भी कहना है कि उसने यह सबकुछ कब खाया इसका पता नहीं चल पाया. परिवार वाले कहते हैं कि वह भी इससे अचंभित हैं.

संबंधित समाचार