संसद की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption कई संगठन एफ़डीआई का विरोध कर रहे हैं

शीतकालीन सत्र के दूसरे हफ़्ते संसद के सत्र की हंगामेदार शुरुआत हुई है.खुदरा व्यापार क्षेत्र में एक से ज़्यादा ब्रांड के लिए एफ़डीआई को मंज़ूरी को लेकर दोनों सदनों में विपक्ष ने नारेबाज़ी की.

सदन की कार्यवाही शुरु होते ही विपक्ष ने लोक सभा और राज्य सभा में नारेबाज़ी शुरु कर दी.नारेबाज़ी थमती न देखकर लोक सभा की स्पीकर ने कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित कर दी. लेकिन दोपहर बाद भी हल्ला गुल्ला जारी रहा. इसके बाद दोनों सदनों की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई.

यूपीए सरकार के कई सहयोगी दल भी उसके साथ खड़े नहीं नज़र आ रहे.

सत्र के पहले हफ़्ते में महंगाई और काले धन जैसे मुद्दों को लेकर जमकर हंगामा हुआ था और कामकाज नहीं हो पाया था. अब एफ़डीआई को स्वीकृति दिए जाने पर विपक्ष सरकार को घेरने की तैयारी में है.

एनडीए के अहम घटक जनता दल (यू) ने लोकसभा में सोमवार के लिए स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया हुआ है. बताया जा रहा है कि इस मुद्दे को लेकर भारतीय जनता पार्टी, वामपंथी दलों, एआईएडीएमके जैसे विपक्षी दलों के बीच समन्वय बनाने की कोशिश जारी है.

खुदरा व्यापार क्षेत्र में एक से ज़्यादा ब्रांड के लिए एफ़डीआई को मंज़ूरी देने के ख़िलाफ़ व्यापारियों ने एक दिसंबर को बंद भी रखा है.

सरकार के फ़ैसले के बाद दुनिया के कई बड़े खुदरा ब्रांडों को भारत में अपनी दुकानें खोलने का मौक़ा मिल सकता है.

लेकिन कई व्यापारी और किसान इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ हैं तो एक तबका इसका समर्थन करता नज़र आ रहा है.

संबंधित समाचार