'2012 में प्रलय नहीं आएगा, बाज़ार का झूठ'

माया सभ्यता इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption माया सभ्यता कई मामलों में बहुत विकसित थी उनमे से काल गणना का क्षेत्र एक है

ऐसा दावा करने वालों की कमी नहीं है कि माया सभ्यता के कैलेण्डर के हिसाब से 2012 में दुनिया के अंत होने वाला है.

लेकिन ऐसी की भविष्यवाणी करने वालों के लिए बुरी ख़बर. विशेषज्ञों का कहना है की माया सभ्यता के लोगों के अंत की घोषणा नहीं की थी.

जिस माया शिलालेख पर 2012 का ज़िक्र है उस शिलालेख के एक नए अध्ययन से पता चलता है कि माया लोगों ने 2012 में पृथ्वी के अंत की नहीं अपने कैलेंडर के हिसाब से एक युग के अंत की बात कही थी.

यह शिलालेख माया सभ्यता के लोगों ने 1300 साल पहले उकेरा था.

माया चिन्हों के जानकार स्वेन ग्रौनेमेयर के अनुसार, "यह दिन सृष्टि के दिन की झलक होगा."

ग्रौनेमेयर के अनुसार इस दिन माया लोगों के भगवान की वापसी भी होगी.

उनका कहना है, "बोलोन योक्ते, जो कि माया लोगों के सृष्टि और युद्ध के देवता है, वो माया लोगों के हिसाब से 2012 में वापस लौटेगें."

ग्रौनेमेयर कहते हैं कि 2012 में माया लोगो के कैलेण्डर का एक 400 साल का चक्र समाप्त हो रहा है.

मेक्सिको के नेशनल इंस्टीट्युट फ़ॉर एनथ्रोपोलॉजिकल हिस्ट्री ने भी इस बात का खंडन करने की कोशिश की है कि माया लोगों के अनुसार सृष्टि में प्रलय आने वाली है.

माया लोगों के लिखे हुए 15000 आलेखों में से केवल दो में साल 2012 का ज़िक्र है.

माया सभ्यता पर एक दूसरे विशेषज्ञ एरिक वेलास्क्वेज़ के अनुसार 2012 में प्रलय की बात महज़ बाज़ार की ताकतों का खिलवाड़ है.

संबंधित समाचार