राज्यसभा में दोपहर बाद होगी बहस

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption लोकपाल बिल राज्यसभा में बहस का समय अभी तय नहीं हुआ है

लोकपाल विधेयक को बुधवार दोपहर बाद राज्यसभा में बहस के लिए रखे जाने की उम्मीद है. उधर डॉक्टरों ने मुंबई में अन्ना हज़ारे को अपना अनशन तोड़ने का निवेदन किया है.

अन्ना की सेहत पर नज़र रख रहे डॉक्टरों ने कहा कि अगर वे अनशन जारी रखते हैं तो उनके गुर्दे ख़राब होने का डर है.

अन्ना हज़ारे जनता को संबोधित करने वाले थे, लेकिन उनकी तबीयत ढीली होने के कारण वे अभी आराम कर रहे हैं.

इस बीच मुंबई में बीबीसी संवाददाता ज़ुबैर अहमद का कहना है कि एमएमआरडीए मैदान में 1,500-2000 लोग अन्ना के साथ एकजुटता दर्शाने आए हैं.

राज्यसभा में बहस पर स्थिति साफ़ नहीं

उधर मंगलवार को तो लोकपाल बिल लोकसभा में पारित हो गया था लेकिन उसके राज्यसभा में पेश किए जाने पर स्थिति साफ़ नहीं हो पा रही थी.

बुधवार सुबह राज्य स्तर के केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री नारायणस्वामी ने टीवी चैनलों को बताया कि इस बिल पर राज्यसभा में गुरुवार को ही चर्चा हो पाएगी.

लेकिन कुछ देर बाद दूरदर्शन के हवाले से कहा गया कि केंद्रीय संसदीय कार्यमंत्री पवन कुमार बंसल ने राज्यसभा में बिल बुधवार दोपहर बाद बहस के लिए पेश किए जाने की बात कही है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने लोकपाल विधेयक को राज्यसभा में पेश करने की इजाज़त दे दी है. इस बीच राजीव शुक्ला का कहना है कि बुधवार को ही राज्यसभा में विधेयक पर बहस की जाएगी

इस बीच आज लोकसभा में बुधवार को ज्यूडिसियल एकांउटेबिलीटी बिल पर बहस हो रही है.

टीम अन्ना की सदस्य और पूर्व पुलिस अधिकारी किरण बेदी ने कहा कि सरकार ने जो बिल लोकसभा में पास किया है वो आम जनता के साथ धोखा है क्योंकि सीबीआई अब भी सरकार के नियंत्रण से मुक्त नहीं हुई है.

संबंधित समाचार