तूफ़ान में 18 की मौत, 150 करोड़ की राहत राशि

तूफ़ान से तबाही इमेज कॉपीरइट AP

तमिलनाडु और पुडुचेरी में समुद्री तूफ़ान ठाणे ने भारी तबाही मचाई है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ कम से कम 18 लोग मारे गए हैं.

मुख्यमंत्री जयललिता ने समुद्री तूफ़ान ठाणे के कारण प्रभावित हुए इलाक़ों में राहत कार्यों के लिए तत्काल 150 करोड़ रुपए जारी किए हैं.

उन्होंने अपने चार मंत्रियों को प्रभावित ज़िलों का दौरा करने का भी निर्देश दिया है.

चेन्नई में वरिष्ठ विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक के बाद जयललिता ने कहा कि उन्होंने अपने मंत्रियों बीवी रामन्ना, टीकेएम चिन्नैया, केए जयापॉल और एमसी संपत को कांचीपुरम, विल्लुपुरम, नागापट्टनम और कुड्डालोर ज़िलों का दौरा करने को कहा है.

ये ज़िले समुद्री तूफ़ान ठाणे के कारण सबसे बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. बंगाल की खाड़ी से चला समुद्री तूफ़ान ठाणे शुक्रवार को तमिलनाडु से होकर गुज़रा.

राहत कार्य

मुख्यमंत्री जयललिता ने कहा है कि 150 करोड़ रुपए की राशि तत्काल राहत कार्यों और बुनियादी सुविधाओं को बहाल करने पर ख़र्च की जाएगी.

इसके अलावा उन्होंने कलेक्टरों, डिप्टी कलेक्टरों और विभागीय सचिवों को निर्देश दिया है कि वे तबाही का आकलन करें और रिपोर्ट पेश करें.

जयललिता ने कहा कि समुद्री तूफ़ान ठाणे के कारण बड़ी संख्या में पेड़ टूट गए हैं और इस कारण यातायात प्रभावित हुआ है. इसके अलावा सैकड़ों बिजली के खंभे भी गिर गए हैं. अधिकारियों को सड़कों को साफ़ कराने का निर्देश दिया गया है.

राज्य सरकार ने ऐहतियात के तौर पर निचले इलाक़ों में रहने वाले क़रीब छह हज़ार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुँचा दिया है. गुरुवार रात से ही कुड्डालोर, विल्लुपुरम और नागापट्टन ज़िलों में बिजली की आपूर्ति बंद है. राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन की चार टीमें भी प्रभावित ज़िलों में भेजी गई हैं.

संबंधित समाचार