चुनाव में प्रचार नही करेंगे अन्ना: बेदी

इमेज कॉपीरइट AFP

समाजिक कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे की सहयोगी किरण बेदी ने कहा है कि ख़राब सेहत के चलते अन्ना पाँच राज्यों में होने वाले चुनाव में अभियान पर नहीं जाएँगे.

किरण बेदी ने कहा कि अन्ना हज़ारे को आराम की ज़रूरत है और वो न तो चुनाव में प्रचार करेंगे और न ही यात्रा करेंगे.

मुंबई में अनशन शुरू करने के बाद 74 वर्षीय अन्ना हज़ारे बीमार पड़ गए थे और उन्हे 31 दिसंबर को पुणे के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

अन्ना हज़ारे को आगामी चुनाव में सरकार के लोकपाल विधेयक के ख़िलाफ़ आंदोलन करना था. अन्ना और उनके सहयोगी विधेयक के मौजूदा संस्करण को अर्थहीन बताते आए हैं.

सरकारी लोकपाल बिल को पिछले हफ़्ते लोकसभा में पारित कर दिया गया था, लेकिन राज्यसभा में संशोधनों की मांग के चलते ये अगले सत्र तक के लिए लटक गया.

लोकपाल विधेयक पर संसद का सत्र बुलाकर राज्यसभा में मतदान कराए जाने की माँग के साथ विपक्षी दल भाजपा के प्रतिनिधि गुरुवार को राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल से भी मिले.

किरण बेदी पुणे के संचेती अस्पताल में अन्ना हज़ारे से मिलने गईं थीं. उन्होंने कहा, ''अन्ना को पूरे आराम की ज़रूरत है, डॉक्टरों ने उन्हे यात्रा नही करने की सलाह दी है. मुझे भी लगता है कि अन्ना को आराम करना चाहिए, इसलिए वो न तो यात्रा करेंगे और न ही चुनाव में प्रचार.''

'यात्राएं ना करें अन्ना'

बेदी के मुताबिक़ डॉक्टरों ने अन्ना हज़ारे को आगे और अनशन करने से मना किया है और कहा है कि वो ज़्यादा यात्राएं न करें.

किरण बेदी के अनुसार पांचों चुनावी राज्यों के तापमान में परिवर्तन से अन्ना की सेहत को खतरा है.

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में 28 जनवरी से तीन मार्च के बीच चुनाव होने हैं.

अन्ना हज़ारे और उनके सहयोगियों ने कहा था कि मज़बूत लोकपाल बिल का समर्थन नहीं करने वाली पार्टियों के खिलाफ़ वो प्रचार करेंगे.

किरण बेदी ने कहा है कि उनकी टीम आगे की रणनीति तय करने के लिए शनिवार को बैठक करेगी.

किरण बेदी ने कहा कि अन्ना हज़ारे को अच्छी देखभाल की ज़रूरत है और पूरी तरह से स्वस्थ होने के लिए उन्हे अगले कुछ हफ़्तों तक अस्पताल में ही रहना होगा.

संबंधित समाचार