मुश्किल दौर, विकास दर सात फ़ीसदी रहेगी: प्रधानमंत्री

मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट pib
Image caption प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था इस समय कठिन दौर से गुज़र रही है

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था इस समय कठिन दौर से गुज़र रही है और चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर सात प्रतिशत तक ही रह सकती है.

उन्होंन उम्मीद जताई कि आने वाले वर्ष में अर्थव्यवस्था अपनी लय पकड़ लेगी और देश फिर 9 से 10 प्रतिशत वार्षिक वृद्धि की राह पर चल पड़ेगा.

ये बातें प्रधानमंत्री में जयपुर में 10वें प्रवासी भारतीय दिवस का उदघाटन करते हुए कहीं. इस मौके पर मनमोहन सिंह ने ये भी बताया कि सरकार ने भारतीय प्रवासी कर्मचारियों के लिए नया पेंशन और जीवन बीमा फंड लाने का फैसला किया है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि इससे प्रवासी कर्मचारियों को वापस आकर बसने और अपने बुढ़ापे के लिए पैसे जमा करने में मदद मिलेगी.

उन्होंने कहा, ''सामान्य तरीके से मृत्यु होने पर उन्हें कम खर्च पर जीवन बीमा भी मिलेगा.''

तीन दिन चलने वाले प्रवासी दिवस सम्मेलन में 60 देशों में रह रहे भारतवंशी समुदाय के 1,900 से अधिक चुनिंदा उद्यमी, नीति नियामक और गणमान्य व्यक्ति भाग ले रहे हैं.

मनमोहन सिंह ने कहा कि प्रवासी भारतीयों की पत्नी या पति को मान्यता देने के लिए नागरिकता अधिनियम में संशोधन पेश किया गया है.

प्रधानमंत्री ने कहा, ''भारतीय मूल के लोगों तथा विदेशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित योजना को अधिक सरल और कारगर बनाने के लिए हमने संसद के पिछले सत्र में नागरिकता अधिनियम में संशोधन पेश किया.''

उनका कहना था कि विदेशों में रहे भारतीयों की पत्नियों और पति को प्रवासी भारतीय कार्ड दिया जाएगा.

संबंधित समाचार