उमा भारती उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ेंगीं

उमा भारती इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption उमा भारती को पार्टी ने उत्तर प्रदेश में चुनाव से काफ़ी पहले ही भेज दिया था

भारतीय जनता पार्टी ने आख़िरकार मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती को उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र में चरखारी से विधान सभा चुनाव लड़ाने की घोषणा कर दी है.

भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी ने दिल्ली में उमा भारती की उपस्थिति में इसकी घोषणा की.

माना जा रहा है कि उमा भारती भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री पद की दावेदार बनेंगीं.

इस घोषणा से साफ़ हो गया है कि भाजपा ने उत्तर प्रदेश में उमा भारती को कल्याण सिंह का विकल्प बनाया है और वह मुख्य रूप से पिछड़े वर्गों के आरक्षण को बचाने और हिंदुत्व के एजेंडे पर फोकस करेगी.

विवादित व्यक्तित्व

उमा भारती एक चर्चित नेता होने के साथ ही एक विवादित व्यक्तित्व भी रही हैं. अपने बयानों और कारनामों से वे हमेशा चर्चा में रही हैं.

उन्होंने वर्ष 2004 में मध्यप्रदेश में अपने दम पर भाजपा की सरकार बनाई थी लेकिन एक पुराने विवाद में अदालत से सम्मन जारी होने के बाद उन्हें पद छोड़ना पड़ा था. फिर वे कभी मध्यप्रदेश नहीं लौट सकीं.

पार्टी में गुटबाज़ी की शिकायत करते हुए उन्होंने तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी के ख़िलाफ़ बगावत कर ली थी जिसके बाद उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था.

इसके बाद उन्होंने अपनी पार्टी बनाकर भाजपा को ही निशाना बनाया लेकिन कामयाब न हो सकीं.

आख़िर पार्टी में नेतृत्व परिवर्तन के बाद नए अध्यक्ष नितिन गडकरी के प्रयासों से वे पार्टी में वापस लौटीं और इसके बाद उन्हें उत्तर प्रदेश चुनाव में अहम ज़िम्मेदारियाँ दी गई हैं.

कल्याण सिंह की तरह वे भी लोध हैं और पिछड़े वर्ग की नेता मानी जाती हैं.

संबंधित समाचार