गणतंत्र दिवस परेड शुरु

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption एडिलेड में भी भारत ऑस्ट्रेलिया मैच शुरु होने से पहले भारतीय झंडा पैराशूट के ज़रिए फहराया गया.

भारत की राजधानी दिल्ली के राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड शुरु हो गई है और राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल परेड की सलामी ले रही हैं.

परेड में सबसे पहले पदक विजेता आए हैं जिसके पीछे सेना की टुकड़ियां हैं.

सेना की कई टुकड़ियां परेड में हिस्सा ले रही हैं. टैंक, बड़े हथियार और गाड़ियों से लैस सेना का वैभव देखने के लिए बड़ी संख्या में लोगों का हूजुम परेड देखने के लिए जुटा है.

परेड में सेना की स्मर्च हथियार प्रणाली भी दिखाई गई है जो हर मौसम में दूर तक मार कर सकती है.

दिल्ली का मौसम शानदार है और धूप में लोग परेड का आनंद ले रहे हैं.

कड़ी सुरक्षा

63वें गणतंत्र दिवस समारोह के लिए देश भर में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं. नक्सलियों के गणतंत्र दिवस के बहिष्कार को देखते हुए सुरक्षा एजेंसियों को विशेष एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं.

केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस पर प्रदेशों को अलर्ट करते हुए अधिक चौकस रहने की हिदायत दी है. पंजाब, जम्मू-कश्मीर और दिल्ली के लिए यह अलर्ट विशेष तौर से जारी किया गया है.

दिल्ली सहित देशभर में गणतंत्र दिवस समारोहों के मद्देनजर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गई है ताकि किसी भी तरह की अप्रिय घटना न घट सके.

सघन तलाशी

दिल्ली में कड़ी निगरानी के लिए ज़मीनी और हवाई सुरक्षा उपकरणों की तैनाती की है.

दिल्ली से सटे राज्य उत्तर प्रदेश, हरियाणा से आने वाली गाडियों की सघन तलाशी ली जा रही है. राज्य की सीमा पर जगह-जगह पुलिस के बैरीकेट लगे हुए है.

इस बार गणतंत्र दिवस समारोह की मुख्य अतिथि थाईलैंड की पहली महिला प्रधानमंत्री यिंगलक चिनावाट हैं.

ज़मीनी सुरक्षा के लिए राजधानी दिल्ली में अर्धसैनिक बलों और एनएसजी के अचूक निशानेबाज़ो समेत 25 हज़ार से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

राजपथ पर अभूतपूर्व सुरक्षा

हवाई सुरक्षा को देखते हुए परेड के वक्त राजधानी के उपर का आसमान सवा 11 बजे से दोपहर सवा 12 बजे तक एक घंटे के लिए बंद रहेगा. उंची इमारतों पर अचूक बंदूकधारी तैनात किए हैं.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption 160 से अधिक क्लोज सर्किट कैमरे राजपथ और लालकिले के बीच परेड के रास्ते पर लोगों की गतिविधियों पर कड़ी नज़र रख रहे हैं

160 से अधिक क्लोज सर्किट कैमरे राजपथ और लालकिले के बीच परेड के रास्ते पर लोगों की गतिविधियों पर कड़ी नज़र रख रहे हैं.

परेड के समूचे रास्ते पर विशेष सुरक्षा और आतंकवाद निरोधी उपाय किए गए हैं. वायुसीमा में किसी भी घुसपैठ को रोकने के लिए विमानभेदी तोपें तैनात की गई हैं.

वायु रक्षा उपायों के अलावा वायु सेना के हेलीकॉप्टर राजपथ और परेड मार्ग पर नज़र रखेंगे.

इसके अलावा व्यस्त बाज़ारों, मेट्रो, रेलवे एवं बस स्टेशनों पर और इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.

दिल्ली पुलिस के कमांडो रायसीना हिल्स से लालकिले तक गणतंत्र दिवस परेड के पूरे रास्ते पर कड़ी निगरानी बनाए हुए हैं.

राजपथ पर बहुस्तरीय सुरक्षा घेरा पहले ही बनाया जा चुका है जहां राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल तिरंगा फहराएंगी और परेड की सलामी लेंगी.

राजधानी दिल्ली के साथ ही देश के प्रमुख महानगरों और जम्मू कश्मीर एवं पूर्वोत्तर के संवेदनशील इलाकों में भी सुरक्षा की विशेष व्यवस्था की गई है.

वहीं, नक्सलियों की चेतावनी को देखते हुए छत्तीसगढ़ में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं.