सिपाही के 'अपमान' पर हाई कोर्ट का नोटिस

दिल्ली पुलिस का सिपाही इमेज कॉपीरइट TV Grab
Image caption ये वीडियो वहां मौजूद कुछ वकीलों ने अपने मोबाइल फ़ोन पर रिकॉर्ड किया.

दिल्ली उच्च न्यायालय ने एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी द्वारा एक सिपाही को पटियाला हाउस कोर्ट परिसर में सज़ा देने का वीडियो सामने आने के बाद जांच के आदेश दिए हैं.

जिन वकीलों ने इस घटना को देखा उनमें से कुछ ने दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त उप अधीक्षक सेजु कुरुविला के विरुद्ध शिकायत दायर की है. पुलिस अधिकारी ने इस बारे में कोई बयान जारी नहीं किया है.

अदालत ने कुरुविला को नोटिस जारी करते हुए इसे ‘नृशंस और अमानवीय कृत्य’ बताया है. दिल्ली हाई कोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश एके सिकरी और न्यायाधीश राजीव साहा ने पुलिस से एक हफ़्ते के भीतर जवाब देने को कहा है.

‘अपमानजनक’

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सिपाही अपने फ़ोन पर बात कर रहा था और आने-जाने वाले लोगों की तलाशी नहीं ले रहा था.

वहां मौजूद लोगों के अनुसार सिपाही ने सादे वस्त्रों में आए जेजु कुरुविया को नहीं पहचाना.

जिन वकीलों ने इस घटना को देखा उनमें से कुछ ने इसे अपने मोबाइल कैमरे पर उतार लिया.

अपनी शिकायत में वकीलों ने कहा है, “हमने एक सिपाही को ज़मीन पर रेंगते हुए देखा. पूछने पर पता चला कि एडिशनल डीसीपी ने उसे ये अपमानजनक और अमानवीय कृत्य करने पर मजबूर किया.”

शिकायत करने वाले वकीलों में से एक एसएन शर्मा ने कहा कि जेजु कुरुविला ने सिपाही से 200 से 250 मीटर तक सॉमरसॉल्ट करवाया. उन्होंने कहा कि सिपाही की आंखों में आंसू थे.

कुछ रिपोर्टों के अनुसार बाद में सिपाही को अस्पताल ले जाया गया है.

दिल्ली के पुलिस कमिश्नर बीके गुप्ता ने कहा है कि इस मामले की जांच चल रही है.