उत्तर प्रदेश चुनाव 2012: दूसरे चरण का मतदान

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption दूसरे चरण में नौ जिलों की 59 सीटों के लिए मतदान हो रहा है,

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में आम जनता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रही है.

दूसरे चरण में नौ जिलों की 59 सीटें हैं. जिन नौ जिलों में मतदान हो रहा है, उनमें आज़मगढ़, कुशीनगर, महाराजगंज, गाज़ीपुर, बलिया, गोरखपुर, संत कबीरनगर, मऊ और देविरया शामिल हैं.

इन पर 1098 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. इस चरण में सर्वाधिक संवेदनशील माने जाने वाले आजमगढ़ और उसके आसपास के क्षेत्रों मऊ, गाज़ीपुर तथा गोरखपुर जिलों में मतदान है.

मुस्लिम बाहुल्य आज़मगढ़ जिला सर्वाधिक संवेदनशील माना जा रहा है.

गाज़ीपुर सदर में मौजूद बीबीसी संवाददाता अविनाश दत्त का कहना है कि सुबह साढ़े दस बजे जब वे सिटी मॉन्टेसरी स्कूल स्थित मतदान केंद्र पहुंचे तो वहां मतदाताओं की लंबी कतार लगी थी. बड़ी संख्या में लोग वोट डालने पहुंच रहे हैं.

लेकिन प्रशासन की सख़्ती की वजह से पूरे क्षेत्र में कर्फ्यू जैसा माहौल है. इक्का-दुक्का दुकानों को छोड़कर सभी बाज़ार बंद हैं और सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है. बसें भी नहीं चल रही हैं, जिसकी वजह से यात्रियों को काफ़ी परेशानी हो रही है.

कुछ जगहों पर प्रशासन ने ज़बरन दुकानें बंद करवा दीं. प्रशासन की सख़्ती से मतदाता भी काफ़ी परेशान दिख रहे हैं.

अविनाश दत्त के मुताबिक मतदाताओं के रुख से कुछ भी स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि उनका रुझान किस पार्टी की ओर है, लेकिन उन्होंने जिनसे बात की उनमें ज़्यादा संख्या उन लोगों की थी, जो बीएसपी या फिर सपा को वोट देना चाहते हैं.

चुनाव शांतिपूर्ण तथा निष्पक्ष ढंग से संपन्न कराने के लिए बिहार और पड़ोसी देश नेपाल की सीमा सील कर दी गई है.

विधानसभा अध्यक्ष सुखदेव राजभर, बसपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वामी प्रसाद मौर्य, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही, भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी और पूर्वांचल के बाहुबली नेता हरिशंकर तिवारी भी चुनाव मैदान में हैं.

उप्र. की राजनीति बाहुबलियों के बिना कैसे अधूरी है.पढ़ें 'क्योंकि दाग अच्छे हैं'.

बाहुबली और करोड़पति उम्मीदवार

बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी दो सीटों (मऊ और घोसी) से चुनाव मैंदान में है.

बहुचर्चित मधुमिता हत्याकाण्ड में आजीवन कारावास की सजा काट रहे पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के पुत्र अमनमणि त्रिपाठी महराजगंज जिले के नौतनवां सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.

दूसरे चरण में औसतन 35 प्रतिशत उम्मीदवारों के ख़िलाफ़ आपराधिक मामले दर्ज हैं और 41 प्रतिशत करोड़पति प्रत्याशी हैं.

इस चरण में 34 विधायकों की किस्मत भी दांव पर लगी है. 96 उम्मीदवार मुस्लिम समुदाय के हैं. इस चरण में एक करोड़ 92 लाख मतदाता हैं.

कांग्रेस, भाजपा, बसपा और सपा ने अपने स्टार प्रचारकों को उतारकर दूसरे चरण के चुनाव को रोमांचक बना दिया है.

लखनऊ हवाई अड्डा बड़े नेताओं के प्रचार के लिए हेलीकॉप्टर और छोटे विमानों से पटा हुआ है.

इस बीच प्रत्याशियों और उनके समर्थकों द्वारा रुपए, शराब और महिलाओं के बीच साड़ियां बांटने की सूचना आती रही.

महत्वपूर्ण है कि पहले चरण में बुधवार को राज्य की 55 विधानसभा सीटों पर मतदान हुआ था.

पहले चरण में ख़राब मौसम के बावजूद 62 फ़ीसदी लोगों ने वोट डाले थे. उम्मीद है कि दूसरे चरण में भी मतदाता अधिक से अधिक संख्या में अपने घरों से निकलेंगे और मताधिकार का उपयोग करेंगे.

प्रथम चरण के ऐतिहासिक मतदान से उत्साहित निर्वाचन आयोग ने उम्मीद जताई है कि दूसरे चरण में 75 प्रतिशत तक मतदान हो सकता है.

संबंधित समाचार