लोकायुक्त ने की नसीमुद्दीन के खिलाफ जांच की सिफारिश

सीबीआई का लोगा
Image caption लोकायुक्त ने नसीमुद्दीन सिद्दिकी के विरुद्ध सीबीआई जांच की सिफारिश की है.

उत्तर प्रदेश में लोकायुक्त ने मायावती सरकार के सबसे वरिष्ठ मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी को अपनी जांच में आय से अधिक संपत्ति का दोषी पाते हुए सीबीआई या केंद्र सरकार के प्रवर्तन निदेशालय से जांच करवाने की सिफारिश की है

लोकायुक्त कार्यालय में सूत्रों के अनुसार लोकायुक्त एनके मेहरोत्रा ने इस संबंध में एक पत्र मुख्यमंत्री मायावती को भेजा है

लोकायुक्त जांच में ये पाया गया कि सिद्दीकी और उनके परिवार के लोगों ने बाराबंकी और बांदा ज़िलों में बड़े पैमाने पर ज़मीनें खरीदीं और करोड़ो रुपए का निवेश किया.

लेकिन ये लोग इसके लिए प्रयोग किए गए धन के स्रोत के बारे में वे कई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए.

लोकायुक्त की ये सिफ़ारिश ऐसे वक्त में आई है जबकि पांचवे चरण का मतदान होने जा रहा है.

अबतक मायावती सरकार के 16 मंत्रियों को लोकायुक्त दोषी पा चुके हैं. इनमें से लगभग सभी को मंत्रीमंडल से हटाया जा चुका है

इसलिए अटकलें लगाई जा रही हैं कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी को भी पद छोड़ना पड़ सकता है.

राज्य भाजपा के प्रवक्ता विजय पाठक ने कहा है कि उनकी पार्टी ने सिद्दीकी पर जो भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे वो लोकायुक्त जांच में सही पाए गाए हैं इसलिए उन्हें तुरंत त्यागपत्र दे देना चाहिए.