लोकतंत्र के मंदिर में ब्लू फिल्में देखते हैं: केजरीवाल

भारत की संसद इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अरविंद केजरीवाल ने कथित तौर पर कहा था कि संसद में बलात्कारी, हत्यारे और लुटेरे बैठे हैं

सांसदों के खिलाफ अपनी टिप्पणी के लिए राजनीतिक दलों और नेताओं की आलोचना का सामना कर रहे अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि लोकतंत्र के मंदिर संसद और विधानसभाओं में इसके सदस्य ब्लू फिल्में देखते हैं, विधेयक फाड़ते हैं और एक-दूसरे पर कुर्सियाँ फेंकते हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ केजरीवाल ने ट्विटर पर भेजे अपने संदेश में कहा, ''भारत में पार्टी आलाकमान की तानाशाही होती रही है. लेकिन अब इसे सही मायनों में जनता का जनता के लिए शासन बनाने का समय आ गया है.''

उन्होंने कहा, ''इस संसद में ऐसे 15 सांसद हैं जिन पर हत्या करने के आरोप हैं, 23 ऐसे सांसद हैं जिन पर हत्या के प्रयास के आरोप है, 11 सांसदों के खिलाफ धारा 420 के तहत धोखाधड़ी करने और 13 के विरुद्ध अपहरण के मामले दर्ज हैं.''

केजरीवाल का कहना है, ''उत्तरप्रदेश में पार्टियों ने ऐसे पांच लोगों को चुनाव में खड़ा किया है जिन पर बलात्कार के आरोप हैं. क्या हम इन लोगों से उम्मीद करें कि वे भारत को भ्रष्टाचार और अपराध से मुक्त कराएंगे.''

उनका कहना है कि जब तक संसद और विधानसभाओं का चरित्र नहीं बदलता, तब तक आशा की कोई किरण नहीं है.

केजरीवाल के वार

केजरीवाल ने पूछ है, ''जब हम उनसे सवाल करते हैं तो वो कहते हैं कि आपका संसद में भरोसा नहीं है. हम ऐसे लोगों पर कैसे भरोसा कर सकते हैं कि वो भारत को गरीबी से निज़ात दिलाएंगे.''

इमेज कॉपीरइट TV9
Image caption कर्नाटक विधानसभा के तीन सदस्यों पर आरोप लगा कि उन्होंने सदन के भीतर पॉर्न वीडियो देखा

उन्होंने कहा, ‌''संसद और विधानसभाएं लोकतंत्र के मंदिर हैं, लेकिन वे इन्हीं मंदिरों में ब्लू फिल्में देखते हैं, विधेयक की प्रतियां फाड़ते हैं और कुर्सियां फेंकते हैं.''

केजरीवाल ने इससे पहले एक सभा में कहा था कि 'संसद में बलात्कारी, हत्यारे और लुटेरे बैठे हैं'.

इस पर कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने केजरीवाल पर हमला बोला था.

दिग्विजय सिंह ने कहा था, ''अगर संसदीय लोकतंत्र बुरा है, तो क्या केजरीवाल के दिमाग में कोई और मॉडल है, क्या वो तानाशाही, सैन्य शासन या एक पार्टी के शासन की बात कर रहे हैं.''

दिग्विजय सिंह ने कहा, ''टीम अन्ना चाहती है कि लोग भ्रष्ट उम्मीदवारों के खिलाफ वोट करें. हम जानना चाहते हैं कि क्या अन्ना ने अपने गांव के पंचायत चुनाव में वोट डाला.''

इस बयान के लिए अन्य पार्टियों ने भी केजरीवाल को आड़े हाथों लिया है. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के राष्ट्रीय महासचिव राम कृपाल यादव ने कहा, ''उनकी पार्टी संसद के बजट सत्र के दौरान विशेषाधिकार हनन का नोटिस लाएगी.''

राजद ने केंद्र सरकार से मांग की है कि देशद्रोह के आरोप में केजरीवाल को फौरन गिरफ्तार किया जाए.

संबंधित समाचार