जल्द पटरी पर लौटेगी अर्थव्यवस्था:राष्ट्रपति

भारतीय राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption राष्ट्रपति का कहना है कि पिछले साल पूरे विश्व की आर्थिक स्थिति की तुलना में भारत में विकास दर अच्छी रही.

भारतीय अर्थव्यवस्था के जल्द ही पटरी पर वापस लौटने की उम्मीद करते हुए राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने कहा है कि विकास दर जल्द ही आठ से नौ प्रतिशत के स्तर पर लौटेगी.

सोमवार को बजट सत्र की शुरुआत में संसद के संयुक्त सदन को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने सरकार की भ्रष्टाचार और काले धन पर अंकुश लगाने के लिए प्रतिबद्धता की बात भी कही.

भारतीय अर्थव्यवस्था बेहतर

राष्ट्रपति का कहना था कि पिछले साल पूरे विश्व की आर्थिक स्थिति की तुलना में भारत में विकास दर अच्छी रही.

राष्ट्रपति का कहना था, "ये वर्ष विश्व अर्थव्यवस्था के लिए मुश्किलों भरा रहा है. आर्थिक अनिश्चितताओं का पूरे विश्व पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है. वर्ष 2010-11 में भारतीय अर्थव्यवस्था 8.4 फीसदी की दर से बढ़ी लेकिन इस वर्ष ये सात फीसदी रह गई. विश्व की मौजूदा प्रवृतियों को देखते हुए ये विकास दर अच्छी है."

उन्होंने आगे कहा, "भारतीय अर्थव्यवस्था के दीर्घकालिक मूलतत्व स्वस्थ बने हुए हैं. भारत की विकास संभावनाएं उच्च घरेलू बचत एवं निवेश दर, अनुकूल जनसांख्यिकी और स्थिर लोकतांत्रिक व्यवस्था जैसे कारकों से प्रेरित हैं. मेरी सरकार को विश्वास है कि वह जल्द ही देश के आर्थिक विकास को पुन: आठ से नौ प्रतिशत की उच्च दर पर वापस ले आएगी."

ईमानदार और अधिक कारगर शासन उपलब्ध कराने की सरकार की प्रतिबद्धता की बात करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार ने देश में भ्रष्टाचार कम करने के लिए लोकपाल और लोकायुक्त विधेयक सहित कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं.

उन्होंने ये भी कहा कि सरकार काले धन की समस्या से निपटने के लिए कई विविध मोर्चो पर कार्यवाही शुरु कर चुकी है.

स्वास्थ्य सेवाएं और अल्पसंख्यक आरक्षण

राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में स्वास्थ्य सेवाओं में वृद्धि पर जोर दिया और विश्व स्वास्थ्य संगठन के भारत को पोलियो मुक्त राष्ट्र घोषित करने के लिए सरकार की सराहना की.

उन्होंने ये भी कहा कि सरकार की विकलांगों की समस्याओं पर अधिक ध्यान केंद्रित करने के लिए एक अलग विभाग बनाने की योजना है.

अभिभाषण के दौरान सदन में उस समय शोर-शराबा हुआ जब राष्ट्रपति ने मौजूदा निर्धारित आरक्षण में से अल्पसंख्यकों के लिए 4.5 प्रतिशत आरक्षण देने की सरकार की हाल की घोषणा की बात कही.

पाकिस्तान

पाकिस्तान की चर्चा करते हुए प्रतिभा पाटिल ने कहा, ''हम पाकिस्तान के साथ सभी लंबित मामलों का हल बातचीत के जरिए करने के लिए प्रतिबद्ध हैं । यह ध्यान में रखते हुए कि पाकिस्तान के लिए आवश्यक है कि वह अपनी जमीन पर आतंकवादी गुटों और उनसे संबंधित ढांचे के खिलाफ ठोस कार्रवाई करे, अब तक हुई प्रगति को हम आगे बढाना चाहेंगे. ''

परमाणु ऊर्जा

देश में परमाणु संयंत्रों की स्थापित क्षमता 12वीं योजना के अंत तक 10, 080 मेगावाट होने की उम्मीद व्यक्त करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि परमाणु उर्जा कार्यक्रम को लागू करने में समाज के किसी भी वर्ग की सुरक्षा और उनकी आजीविका अर्जन से किसी प्रकार का कोई समझौता नहीं किया जाएगा.

उन्होंने कहा, "जापान में फुकुशिमा में मार्च 2011 में हुई दुर्घटना के बाद सरकार ने देश में लगभग सभी परमाणु ऊर्जा संयंत्रों की सुरक्षा प्रणालियों की तकनीकी समीक्षा के आदेश दिए. इनकी रिपोर्ट को सार्वजनिक किया गया और सुरक्षा बढ़ाने के संबंध में की गई सिफ़ारिशों को लागू किया जा रहा है."

संबंधित समाचार