आईपीएस अधिकारी की मौत पर रहस्य बरकरार

छत्तीसगढ़ के एसपी राहुल शर्मा
Image caption राहुल शर्मा की तथाकथित आत्महत्या का मामला अभी भी रहस्यमय बना हुआ है.

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर शहर के पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा की कथित आत्महत्या का मामला अब भी रहस्यमय बना हुआ है. घटना के एक दिन बाद भी पुलिस आत्महत्या के कारणों का पता नहीं लगा पाई है.

सोमवार की दोपहर राहुल शर्मा नें अपने सर्विस रिवाल्वर से खुद को गोली मार ली थी.

भारतीय पुलिस सेवा के 2002 बैच के अधिकारी, राहुल शर्मा, राज्य के सबसे संवेदनशील दंतेवाड़ा जिले के भी एसपी रह चुके हैं.

यहाँ उनके खिलाफ फर्जी मुठभेड़ के आरोप भी लगे थे. इसके बाद उनका तबादला रायगढ़ हुआ था जहाँ उन्होंने अवैध उत्खनन पर नकेल कसने का काम किया था. अभी कुछ ही दिनों पहले उन्हें बिलासपुर का एसपी बनाया गया था.

अधिकारियों का कहना है कि राहुल शर्मा रेलवे कालोनी स्थित अपनी पत्नी के सरकारी आवास में रह रहे थे. उनकी पत्नी गायत्री रेलवे में अधिकारी हैं और बिलासपुर में ही पदस्थ हैं.

एक अधिकारी का कहना था, "उनके सरकारी आवास की मरम्मत का काम चल रहा था, इसलिए वह अपनी पत्नी के मकान में रह रहे थे."

हालांकि पिछले तीन दिन से वह बिलासपुर के पुलिस अफसर मेस में रह रहे थे. कुछ लोगों का कहना है कि कुछ पारिवारिक कारणों से उन्होंने ऐसा किया. वह पंद्रह दिनों की छुट्टी पर गए गए थे और दो-तीन दिन पहले ही ने ड्यूटी पर वापस लौटे थे.

वजह

शर्मा के अंगरक्षक ने बताया कि सोमवार की दोपहर गोली चलने की आवाज़ सुनकर जब वे अंदर गए, तो एसपी को खून में लथपथ जमीन पर गिरा पाया.

इस मामले में सबसे ज्यादा गौर करने वाली बात यह है कि सोमवार की दोपहर तक भी राहुल शर्मा अपने 'नाइट सूट' में ही थे. अभी यह पता नहीं लग पाया है कि क्या कारण रहे कि दोपहर तक वह नहाए भी नहीं थे.

हालांकि कुछ और लोगों का कहना है कि बिलासपुर में नियुक्ति के बाद से ही वह कुछ दबाव में काम कर रहे थे. विभाग में चर्चा है कि एक वरिष्ठ अधिकारी के साथ उनके संबंध ठीक नहीं थे.

लेकिन यह सब अटकलें ही हैं क्योंकि आत्महत्या के कारणों का कोई ठोस प्रमाण अभी तक पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है.

राज्य के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामनिवास का कहना है कि इस मामले की जांच की जा रही है. वैसे पुलिस राहुल शर्मा के मोबाइल फोन से आखरी क्षणों में की गई बातचीत का ब्यौरा हासिल कर रही है.

संबंधित समाचार