स्कूटर-मोटरसाइकिल का इस्तेमाल बढ़ा

 बुधवार, 14 मार्च, 2012 को 12:23 IST तक के समाचार
स्कूटर

पिछले 10 वर्षों में भारतीय घरों में पेट्रोल-डीज़ल पर दौड़ने वाले दोपहिया वाहनों में सबसे ज़्यादा बढ़ोतरी हुई है.

पिछले 10 वर्षों में भारतीय घरों में पेट्रोल-डीज़ल पर दौड़ने वाले दोपहिया वाहनों में सबसे ज़्यादा बढ़ोतरी हुई है.

यानी एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए भारतीय सबसे ज़्यादा स्कूटर, मोटरसाइकिल या मोपेड का इस्तेमाल करते हैं.

भारत की 15वीं जनगणना में यातायात के साधनों के आंकड़ें दिखाते हैं कि जहां 2001 में 11.7 प्रतिशत भारतीय घरों में स्कूटर, मोटरसाइकिल या मोपेड थी, वहीं 2011 में 21 प्रतिशत घरों में ये वाहन हैं, यानी 9.3 प्रतिशत की बढ़ोतरी.

जनगणना में शामिल यातायात के साधनों में साइकिल, स्कूटर-मोपेड-मोटरसाइकिल और कार-जीप-वैन शामिल थे.

लेकिन इन सालों में साइकिल और कार की संख्या में बहुत ज़्यादा बढ़ोतरी नहीं हुई है.

5% से कम गाड़ियां

दिलचस्प बात ये है कि दुनिया की तेज़ी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक भारत में अब भी पांच प्रतिशत से कम घरों में चौपहिया वाहन हैं हालांकि पिछली जनगणना की तुलना में ये संख्या बढ़ी है.

ताज़ा जनगणना के मुताबिक 4.7 प्रतिशत घरों में ही फ़िलहाल कार-जीप-वैन हैं. 2001 की जनगणना में 2.5 प्रतिशत भारतीय घरों में चौपहिया वाहन थे.

आम आदमी की सवारी समझे जानी वाली साइकिल में मात्र 1.1 प्रतिशत इजाफ़ा हुआ है. जहां 2001 में 43.7 प्रतिशत घरों में साइकिल थी, वहीं 2011 में 44.8 प्रतिशत घरों में साइकिल पाई गईं.

जनगणना में एक और बात जो सामने आई है वो ये कि इन 10 सालों में ज़्यादा भारतीय घरों में यातायात के साधन मौजूद हैं. 2001 में 51.3 प्रतिशत घरों में इनमें से वाहन नहीं था लेकिन 2011 में ये आंकड़ा घट कर 44.1 प्रतिशत रह गया है.

शहरों में पसंद नहीं साइकिल

आंकड़ें ये भी दिखाते हैं कि स्कूटर-मोटरसाइकिल-मोपेड जैसे दोपहिया वाहन और चौपहिया वाहनों के प्रति लोगों का रूझान ग्रामीण और शहरी, दोंनो ही इलाकों में बढ़ा है.

लेकिन जहां ग्रामीण क्षेत्रों में ज़्यादा लोग साइकिल का इस्तेमाल कर रहे हैं वहीं शहरों में 2001 की तुलना में 2011 में इसमें चार प्रतिशत कमी आई है.

स्कूटर इत्यादि दोपहिया वाहनों की दौड़ में लगभग 60 प्रतिशत घरों के साथ सबसे आगे गोआ है. इसके बाद नम्बर आता है पंजाब, चंडीगढ़, पुदुचेरी और फिर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली का.

वहीं चंडीगढ़ में सबसे ज़्यादा घरों में चौपहिया वाहन हैं और बिहार में सबसे कम.

भारत के सबसे छोटे राज्य सिक्किम में सबसे कम दोपहिया वाहन हैं लेकिन चौपहिया वाहन के मामले में सिक्किम आठवें स्थान पर है. संघ शासित प्रदेश लक्षद्वीप में साइकिल लोगों की पसंद का वाहन पाया गया यानी यहां सबसे ज़्यादा घरों में साइकिल है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.