जागीर कौर दोषी करार, पांच साल की सजा

जागीर कौर इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption अदालत ने जागीर कौर को हत्या के आरोप से बरी कर दिया है

पंजाब सरकार में मंत्री जागीर कौर को बेटी हरप्रीत कौर की हत्या से जुड़े मामले में आपराधिक षड्यंत्र रचने, अगवा करने और जबरन कैद में रखने का दोषी पाया गया है. हालांकि अदालत ने उन्हे हरप्रीत कौर की हत्या के आरोप से बरी कर दिया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार सीबीआई की विशेष अदालत ने जागीर कौर को पांच साल की जेल और पांच हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई.

जागीर कौर की बेटी हरप्रीत कौर की 12 साल पहले हत्या कर दी गई थी.

जागीर कौर सिखों की प्रमुख संस्था शिरोमणी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की अध्यक्ष रह चुकी हैं.

पीटीआई के अनुसार सीबीआई जज बलबीर सिंह के आदेश सुनाने के बाद अदालत में मौजूद जागीर कौर को न्यायिक हिरासत में ले लिया गया जिसके बाद उन्हें पटियाला जेल भेजा जाना है.

इसी मामले में तीन और आरोपियों दलविंदर कौर ढेसी, परमजीत सिंह रायपुर और निशान सिंह को आपराधिक षड्यंत्र रचने का दोषी पाया गया है. तीनों पर पांच हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है.

एक अन्य आरोपी सत्य देवी को अदालत ने सभी आरोपों से बरी कर दिया जबकि आरोपी संजीव कुमार की इस मामले की सुनवाइयों के दौरान ही मौत हो गई.

संबंधित समाचार