बीरभद्र ने दी केजरीवाल पर मानहानि का दावा करने की धमकी

अरविंद केजरीवाल इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अरविंद केजरीवाल ने कहा है क्षमा मांगने का सवाल ही नहीं उठता.

केंद्रीय मंत्री और हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने रविवार को कहा कि वे सामाजिक कार्यकर्ता अरविंद केजरीवाल के विरुद्ध मानहानि का दावा कर सकते हैं.

उन्होंने कहा कि अगर केजरीवाल उनकी ‘छबि को धूमिल’ करने के लिए बिना शर्त माफ़ी नहीं मांगते हैं तो वे अदालत जाएंगे.

वीरभद्र सिंह ने दिल्ली में पत्रकारों को बताया, “मेरी मंशा आपराधिक मानहानि का दावा करने की है. ”

गौरतलब है कि वीरभद्र सिंह का नाम उन 14 मंत्रियों की सूची में था जिनके खिलाफ़ टीम अन्ना ने भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच करवाने और प्राथमिकी दर्ज किए जाने की मांग की थी.

हिमाचल प्रदेश के प्रमुख राजनीतिज्ञ वीरभद्र सिंह ने केजरीवाल को एक पत्र लिखकर बिना शर्त क्षमा मांगने की बात कही है.

'बिना शर्त माफ़ी मांगे'

वीरभद्र सिंह ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, “उन्हें बिना शर्त क्षमा मांगनी चाहिए. मैं अपने ख़त के जवाब का इंतज़ार कर रहा हूं. अगर मैं जवाब से संतुष्ट नहीं हुआ तो उन्हें कानूनी कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए. ”

अरविंद केजरीवाल ने रविवार को फिर दोहराया कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है. उन्होंने पीटीआई को बताया, “मैं एक सप्ताह में जवाब दूंगा. मैंने कुछ भी गलत नहीं कहा है. क्षमा मांगने का कोई सवाल ही नहीं उठता.”

सिंह ने अपने पत्र में कहा है कि केजरीवाल द्वारा लगाए गए आरोप आधारहीन हैं. इस बीच कांग्रेस के सांसद जगदंबिका पाल ने केजरीवाल के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस भी जारी किया है.

टीम अन्ना के एक सदस्य ने पीटीआई को बताया है कि केजरीवाल को वीरभद्र सिंह की चिट्ठी और जगदंबिका पाल के विशेषाधिकार हनन के नोटिस की प्रति मिल गई है.

जगदंबिका पाल ने लोकसभा अध्यक्ष को लिखे पत्र में आरोप लगाया है कि केजरीवाल ने अपनी टिप्पणियों से ‘संसद और इसके सदस्यों को नीचा दिखाया है.’

पाल के अलावा राज्यसभा में राष्ट्रीय जनता दल के सांसद राजनीति प्रसाद और रामकृपाल यादव ने भी केजरीवाल को विशेषाधिकार हनन के नोटिस दिए हैं.

इन लोगों ने 25 मार्च को दिल्ली स्थित जंतर मंतर पर केजरीवाल के उस बयान पर आपत्ति जताई है जिसमें उन्होंने 162 सांसदों पर आपराधिक मामला होने की बात कही थी.

संबंधित समाचार