ओडिशा बंधक संकट: जेलो में बंद 27 कैदी रिहा किए जाएंगे

नवीन पटनायक
Image caption मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कैदियों को रिहा करने की घोषणा बुधवार को विधानसभा में की.

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य की जेलों में बंद 27 कैदियों को छोड़ने की प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा की है.

साथ ही मुख्यमंत्री ने माओवादियों से अपील की है कि अगवा किए गए एक इतालवी पर्यटक और विधायक झिना हिकाका को बिना किसी नुकसान पहुँचाए जल्दी से जल्दी छोड़ दिया जाए.

स्थानीय पत्रकार संदीप साहू के अनुसार रिहा किए जा रहे इन कैदियों में से 15 चासी आदिवासी संघ के हैं, जबकि आठ माओवादी या उनके समर्थक हैं. बाकी चार कैदी वे हैं जिनको छोड़े जाने की सिफारिश मध्यस्थों ने की थी.

कैदियों के नामों की घोषणा गुरुवार को की जाएगी.

चर्चा है कि रिहा किए जा रहे कैदियों में माओवादी नेता सब्यसाची पांडा की पत्नी भी शामिल हो सकती हैं.

गौरतलब है कि माओवादियों ने झिना हिकाका की रिहाई की शर्तो को पूरा करने के लिए सरकार को पाँच अप्रैल तक की मोहलत दी थी.

अगवा

इमेज कॉपीरइट Odisha Assembly
Image caption विधायक झिना हिकाका और एक इतालवी नागरिक अभी भी माओवादियों के कब्जे में है. (फाइल फोटो: झिना हिकाका)

माओवादियों के एक गुट आंध्रा ओडिशा बॉर्डर कमिटी ने लक्ष्मीपुर के विधायक झिना हिकाका का 23 मार्च को अपहरण कर लिया था.

इससे पहले माओवादी नेता सब्यसाची पांडा की अध्यक्षता वाले दल ने दो इतालवी पर्यटकों को अगवा किया था जिनमें से एक क्लॉडियो कोलेंजिलो को रिहा कर दिया गया है.

क्लॉडियो कोलेंजिलो को नक्सलियों ने तीन पत्रकारों को सौंपा था जिनमें संदीप साहू भी शामिल थे.

दूसरे पर्यटक बोसुस्को पाउलो को छोड़ने के बारे में सब्यसाची पांडा ने कहा था कि उसके बारे में तब विचार किया जाएगा जब सरकार उनकी मांगों पर बातचीत करेगी.

पाउलो पिछले 19 सालों से उड़ीसा में रह रहे हैं और वहां पर्यटकों के लिए एक ट्रेकिंग ऑर्गेनाइजेशन चलाते हैं.

पाउलो ने संदीप साहू से बातचीत करते हुए कहा है कि वो बिल्कुल सुरक्षित हैं और उन्हें कोई दिक्कत नहीं है.

संबंधित समाचार