बीजेपी के विज्ञापन में नरेन्द्र मोदी बने कृष्ण

 शनिवार, 7 अप्रैल, 2012 को 07:54 IST तक के समाचार
नरेन्द्र मोदी

तस्वीरों में नरेन्द्र मोदी पहले भी कृष्ण और विवेकानंद के रूप में दिख चुके है. (फाइल)

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी भारतीय जनता पार्टी के एक विज्ञापन में कृष्ण के रूप में दिखाए गए है. ये विज्ञापन गुजरात के सौराष्ट्र इलाके से शुरू होने वाली किसान हित यात्रा के लिए प्रकाशित कराया गया है.

स्थानीय पत्रकार अजय उमठ के अनुसार महाभारत की तर्ज पर बनाए गए इस विज्ञापन में कृष्ण के रूप में दिख रहे मोदी की इस तस्वीर पर विपक्ष ने तीखे स्वर में आलोचना करते हुए इसे महाभारत का अपमान बताया है.

गुजरात के कांग्रेस अध्यक्ष अर्जुन मोधवाडिया ने कहा कि इस विज्ञापन के जरिए मोदी ने लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत की है जिसके लिए उन्हें लोगों से माफी मांगनी चाहिए.

बीजेपी का ये विज्ञापन शुक्रवार को एक स्थानीय अख़बार में छपा. इसे बीजेपी के अमरेली जिला प्रमुख भरत कामदार ने छपवाया है.

हालांकि ये पहली बार नहीं है जब नरेन्द्र मोदी कृष्ण के रूप में दिखे हैं. इससे पहले साल 2007 के विधानसभा चुनाव के दौरान एक जनसभा में मोदी को एक तस्वीर भेंट की गई थी जिसमें वो कृष्ण के रूप में दिख रहें थे. इसी तरह से विवेकानंद जयंती के उपलक्ष्य में उनकी तस्वीर स्वामी विवेकानंद के रूप में दिखी थी.

उमठ ने कहा, “मोदी पहले भी एक बार कृष्ण और नरेन्द्र दत्त के रूप में दिख चुके हैं. गुजरात में ये चुनाव का साल है लिहाजा इसे लोक्रप्रियता पाने के एक तरीके के तौर पर भी देखा जा रहा है.”

विज्ञापन में भारतीय जनता पार्टी के गुजरात अध्यक्ष आरसी फाल्दु अर्जुन बने है और पार्टी के अन्य नेता विजय रूपानी, पुरूशोत्तम रूपाला और आईके जडेजा बाकी पांडवों के रूप में दिख रहें हैं.

यात्रा

"मोदी पहले भी एक बार कृष्ण और नरेन्द्र दत्त के रूप में दिख चुके हैं. गुजरात में ये चुनाव का साल है लिहाजा इसे लोक्रप्रियता पाने के एक तरीके के तौर पर भी देखा जा रहा है."

अजय उमठ, स्थानीय पत्रकार

गौरतलब है कि फाल्दू इस यात्रा की अगुवाई कर रहें हैं, जिसका पार्टी के अनुसार उद्देश्य किसानों में जागरूकता लाना है.

फाल्दू ने पत्रकारों से कहा कि यात्रा का उद्देश्य सौराष्ट्र के किसानों को खेती के लिए वैज्ञानिक तरीकों का प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना है.

उन्होंने कहा कि यात्रा से यूपीए सरकार की ‘किसान विरोधी’ नीतियां भी जगजाहिर होंगी.

यात्रा को हरी झंडी दिखाने के लिए राजकोट पहुंचे मोदी ने यूपीए सरकार को आड़े हाथों लेते हुए उसे किसानो के लिए “संवेदनहीन” और “गुजरात विरोधी” बताया.

उन्होंने कहा कि कपास निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के फैसले से राज्य के किसानों को खासा नुकसान पहुंचा है.

केन्द्र सरकार ने जब निर्यात पर प्रतिबंध लगाए थे तब भी मोदी ने इसकी काफी आलोचना की थी.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.