यूपी की जेलों को बेहतर बनाएँगे राजा भैया

इमेज कॉपीरइट pti
Image caption सपा की नई सरकार में राजा भैया को जेल मंत्री का पद दिया गया है

उत्तर प्रदेश सरकार ने कैदियों के लिए कई सुविधाओं की घोषणा की है.

अच्छा खासा समय जेल में गुजार चुके 'बाहुबली' नेता और नए जेल मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया कैदियों की स्थिति सुधारने की बात कही है.

बीबीसी से बातचीत में राजा भैया ने बताया कि कैदियों के लिए पर्याप्त मात्रा में अच्छी गुणवत्ता का खाना, पीने के लिए स्वच्छ पानी और शौलाचयों की स्थिति सुधारना उनकी अहम प्राथमिकताओं में है.

बातचीत सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें

उन्होंने कहा, "हम मानते हैं कि जेल सुधार गृह है., यातना गृह नहीं. हम तो सिर्फ कैदियों की निगरानी करने वाले हैं. न्यायालय उन्हें हमें सौंपता है और उसके अगले आदेश तक हम उन्हें अपने यहां रखते हैं."

सुधरेंगी जेल

अलग अलग जेलों या जिलों में सजा काट रहे कैदी दंपत्तियों को अब मानवीय आधार पर एक ही जेल में रखा जाएगा.

हफ्ते में दो बार कैदियों के रिश्तेदारों को उनसे मिलने की अनुमति होगी. अब तक उन्हें महीने में एक ही बार मिलने दिया जाता था.

जेल में खाना बनाने के लिए वनस्पति के प्रयोग पर पाबंदी लगी दी गई है. अब राज्य के जेलों में रिफाइंड ऑयल से खाना तैयार होगा. शौलाचयों को बेहतर किया जाएगा और पीने और नहाने के लिए पानी की पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी.

राज्य के जेल विभाग को इन सुधारों के पहले चरण को लागू करने के लिए 90 दिन का समय दिया गया है. सुधारों का दूसरा चरण अक्टूबर में शुरू होगा.

राजा भैया ने बताया कि उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद 280 कैदियों के मोतियाबिंद, अपेंडिक्स और हर्निया के ऑपरेशन कराए गए हैं.

जेल मंत्री के मुताबिक जेलों में पीसीओ की व्यवस्था की जाएगी ताकि कैदी अपने वकील से बात कर सकें. इस बातचीत की रिकॉर्डिंग होगी.

'राजनीति से प्रेरित आरोप'

बाहुबली छवि के नेता राजा भैया 26 महीनों तक जेल में रह चुके हैं.

वह खुद पर लगे तमाम आरोपों को राजनीति से प्रेरित बताते हैं.

उनके मुताबिक, "जेल जाना हमारे लिए दुखद रहा. जिन कारणों से हमें जेल जाना पड़ा, उनमें से अधिकांश मामलों में न्यायालय ने हमें दोषमुक्त किया है. मायावती सरकार ने हम पर अनाप शनाप आरोप लगाए. पोटा लगाकर हमें देशद्रोही और आतंकवादी कहा गया. यहां तक पाकिस्तान की आईएसआई से हमारे रिश्ते बताए गए. लेकिन यह हमारे लिए खुशी और गौरव की बात है कि न्यायालय ने हमें दोषमुक्त किया."

राजा भैया के मुताबिक जेल में उन्होंने कैदियों के दुख दर्द को नजदीक से देखा है और वहां रह कर बहुत कुछ सीखा भी.

उन्होंने कहा कि कैदियों से अब किसी प्रकार की धन वसूली नहीं की जाएगी और इसके लिए उन्होंने जेल अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं.

संबंधित समाचार